Top
Home > राज्य > पश्चिम बंगाल > कोलकाता > बंगाल में चौथे चरण में भी हिंसा रही कायम, मोदी ममता की रार में फंसा बंगाल

बंगाल में चौथे चरण में भी हिंसा रही कायम, मोदी ममता की रार में फंसा बंगाल

आसनसोल, बर्दवान, दुर्गापुर, बीरभूम, बोलपुर, वर्द्धमानपुर राणाघाट. कृष्णा नगर और बहरामपुर लोकसभा क्षेत्र से चुनाव हुआ.

 Special Coverage News |  29 April 2019 2:30 PM GMT  |  कोलकाता

बंगाल में चौथे चरण में भी हिंसा रही कायम, मोदी ममता की रार में फंसा बंगाल
x

प्रथ्वीसदास गुप्ता

लोकसभा चुनाव के चौथे चरण में चुनाव पश्चिम बंगाल में 8 लोकसभा क्षेत्र पर मतदान हुआ. यहां पर इसमें आसनसोल, बर्दवान, दुर्गापुर, बीरभूम, बोलपुर, वर्द्धमानपुर राणाघाट. कृष्णा नगर और बहरामपुर लोकसभा क्षेत्र से चुनाव हुआ.


मिली जानकारी के मुताबिक आसनसोल में मतदाताओं की संख्या 1614917 थी. इन मतदाताओं ने 1807 मतदान केंद्र पर मतदान किया. यहां पर 82 कंपनी अर्ध सैनिक बल तैनात किया गया था. बर्धमन दुर्गापुर लोकसभा क्षेत्र में मतदाताओं की संख्या 17 लाख 32 उधार 831 थी. मतदान केंद्र की संख्या का 2006 थी. बोलपुर लोकसभा क्षेत्र के मतदाताओं की संख्या 17 लाख 2 हजार 366 थी. मतदान केंद्र की संख्या था 1 हजार 957 थी. बीरभूम लोकसभा क्षेत्र में मतदाताओं की संख्या था 16 लाख 96 हजार 851 थी. मतदान केंद्र की संख्या 1 हजार 908 थी. वर्द्धमान पुर क्षेत्र के मतदाताओं की संख्या था 16 लाख 96 हजार 528 थी. मतदान केंद्र की संख्या 1 हजार 919 थी.


वहीँ कृष्ण नगर लोकसभा क्षेत्र की मतदाताओं की संख्या था 17 लाख 32 हजार 831 थी. मतदान केंद्र 2 हजार 6 थी. राणाघाट लोकसभा क्षेत्र के मतदाताओं की संख्या था 17 लाख 56 हजार 445 थी. मतदान केंद्र की संख्या एक 1 हजार ९७१ थी. बरहमपुर लोकसभा क्षेत्र की मतदाता की संख्या 16 लाख 32 हजार 87 थी. मतदान केंद्र की संख्या एक 1 हजार 844 थी.


आज शाम 6:00 बजे तक बरहमपुर क्षेत्र में मतदान हुआ 76.16%कृष्णा नगर में 76.55%राणाघाट पर 78.22%पूर्वी वर्धमान पर 76.92%बर्दवान दुर्गापुर में 76.29%आसनसोल पर 73.64%बोलपुर में 77.95%बीरभूम पर 76.69%चौथे चरण में चुनाव आयोग ने 98% मतदान केंद्र में केंद्रीय सुरक्षा सेना वालों की तैनात किया था. पर सुबह से ही जगह-जगह से हिंसा की खबर आतीं रहीं. बरहमपुर में कांग्रेस की प्रत्याशी अजीत चौधरी की सामने नकली वोट पड़ते रहे. उन्होंने कृष्ण नाथ कॉलेज में हुए मतदान केंद्र पर खुद जाकर मुआयना किया और पुलिस को लेकर के तृणमूल कार्यकर्ता को हटाया और जिस में तृणमूल की एक समर्थक को गिरफ्तार किया गया.


अजीत चौधरी ने कहा राज्य में तृणमूल कांग्रेस जहां पर राज्य पुलिस की तैनात हुई वहीं पर फर्जी मतदान कर रहा है. जबरदस्ती करने की कोशिश कर रहा है. उधर बीरभूम क्षेत्र पर दुबराजपुर पर पहले भाजपा और तृणमूल कांग्रेस के अंदर हाथापाई हुई. जिसको रोकने गए केंद्रीय सेना और अर्ध सैनिक बल के साथ तृणमूल के समर्थकों के साथ हाथापाई हुई पथराव हुआ. जिसके चलते केंद्रीय पुलिस बल के जवानों ने हवा में फायरिंग भी की. इसके चलते कुछ समय मतदान की प्रक्रिया बंद रहा .बाद में जवानों ने चुनाव आयोग के पास सफाई दी. खुद को बचाने के लिए आत्मरक्षा के लिए हम लोगों ने हवा में फायरिंग की.


उधर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी एक चुनावी रैली से इस बात को लेकर नाराजगी जताई और उन्होंने कहा केंद्रीय अर्ध सैनिक बल को कि यह अधिकार नहीं है गोली चलाने का. राज्य की कानून व्यवस्था राज्य सरकार के हाथ में है. राज्य के पुलिस के हाथ में है. इसको लेकर हम चुनाव आयोग के पास जाएंगे. जरूरत पड़ी तो हम कानून का दरवाजा भी खटखटाएंगे. उधर बीरभूम की घाटी में हबीबपुर की एक मतदान केंद्र में भाजपा के अंदर संघर्ष हुआ. जिसमें भाजपा की एक कार्यकर्ता की सर फूट गया. दोनों में इतने ज्यादा संघर्ष होते रहे. जिसमें इसके बाद में पुलिस आ के लाठी चार्ज किया. लाठियां चली जिसमें दोनों दलों की समर्थकों घायल हुए.


बीरभूम की नागौर में भाजपा के समर्थक मतदान करने जब जा रहे थे. उसी समय तृणमूल के लोगों ने उसका रास्ता रोका. उन लोगों से फिर दोनों दलों की समर्थकों के बीच हाथापाई हुई. वहां पर कई दुकानें तोडी गई. इसके बाद में पुलिस और केंद्रीय सैनिक बल पहुंचने के बाद हालात काबू में आए. जिसके चलते भी मतदान कई घंटे तक रुका रहा था. भगवान की मंगल कोर्ट में एक मतदान केंद्र में अफीम के ऊपर सुगंधी इतर लगाने की आरोप भी लगाए. भाजपा ने आसनसोल की बाराबंकी में भाजपा की प्रत्याशी बाबुल सुप्रियो की गाड़ी को तोड़ा गया. उनको वहां से निकालने के लिए जबरदस्ती की. जिसमें भाजपा के और तृणमूल की समर्थकों के अंदर मारपीट हुआ. जिसमें दोनों के कार्यकर्ता घायल हुए.


बाबुल सुप्रियो की कहना है कि यहां पर मतदान केंद्र से भाजपा की पोलिंग एजेंट को निकाला जा रहा है. जिसके चलते हम यहां पहुंचे और मेरे ऊपर अटैक हो गया. जमुआ में एक स्कूल के अंदर पुलिस ने लाठीचार्ज किया लाठियां बरसाई. वहां की पुलिस का कहना था कि तृणमूल और भाजपा ने मतदान केंद्र के अंदर लड़ाई शुरू कर दी. जिसके चलते आम जनता मतदान कर नहीं कर पाए और परिस्थिति इतना भयंकर हुआ बाद में रैपिड एक्शन फोर्स को बुलाना पड़ा. चौकी बूथ पर दोबारा पोलिंग की मांग की गई है. भाजपा की तरफ से पूरे बंगाल में जगह जगह पर और भी छोटे-मोटे घटनाएं घटी. बरहमपुर में बम बरसाए गए. कुल मिला के चुनाव आयोग की चौथी चरण में सख्त भूमिका निभाने का आश्वासन दिया था वह आश्वासन ही रह गया पर शाम को चुनाव आयोग की प्रभारी अजय नायक ने प्रेस को बताया चुनाव शांतिपूर्ण रहे बंगाल की आगे की 5 वें में चरण की चुनाव में क्या होने जा रहा है यह देखना अभी बाकी है.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it