Top
Home > अजब गजब > एक दूल्हे ने दो दुल्हनों के संग लिए सात फेरे

एक दूल्हे ने दो दुल्हनों के संग लिए सात फेरे

जहाँ लोग एक शादी के लिए तरस रहे हों वहीँ मध्यप्रदेश में एक दूल्हा ने दो दुल्हनों संग शादी रचाई है.

 Shiv Kumar Mishra |  9 July 2020 12:57 AM GMT  |  बैतूल

एक दूल्हे ने दो दुल्हनों के संग लिए सात फेरे
x

बैतूल 8जुलाई।।वामन पोटे।।मध्यप्रदेश के बैतूल जिले की घोड़ाडोंगरी तहसील के केरिया गांव में समाज की पंचायत ने दो लड़कियों की शादी एक युवक से करा दी। प्रशासन ने इसकी जांच शुरू कर दी है। इस शादी का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। ग्रामीणों से मिली जानकारी के अनुसार केरिया गांव के आदिवासी युवक संदीप उईके ने होशंगाबाद जिले की एक युवती एवं घोड़ाडोंगरी तहसील के कोयलारी गांव की एक अन्य युवती से एक साथ विवाह किया।

युवक भोपाल में रहकर पढ़ाई कर रहा था। तभी होशंगाबाद जिले की युवती से उसकी दोस्ती हो गई। इसी बीच घर वालों ने कोयलारी गांव की युवती के साथ उसका विवाह तय कर दिया। इसके बाद विवाद होने लगा। तीनों परिवार व समाजजनों ने बैठक कर किया फैसला विवाद को दूर करने के लिए तीनों परिवारों एवं समाज के लोगों ने पंचायत बुलाई।

इसमें निर्णय लिया गया कि यदि दोनों लड़कियां युवक के साथ, एक साथ रहने के लिए तैयार हैं, तो दोनों की शादी लड़के से करा दी जाए। इस पर दोनों लड़कियां राजी हो गईं और युवक से शादी करने को तैयार हो गईं। दो युवतियों से संग साथ फेरे जनपद पंचायत घोड़ाडोंगरी के उपाध्यक्ष मिश्रीलाल परते ने बताया कि केरिया गांव के युवक ने दो युवतियों के साथ सात फेरे लिए हैं।

तीनों परिवारों ने समाज के वरिष्ठ लोगों के साथ बैठक कर युवक की शादी दोनों युवतियों के साथ करने का निर्णय लिया, उसके बाद यह शादी हुई है।

वरिष्ठ अधिवक्ता मदन हिरे ने बताया कि पति या पत्नी के जीवनकाल में पहली पत्नी या पति से विधिपूर्ण रुप से विवाह विच्छेद (तलाक) बिना दूसरा विवाह करना अपराध है। इस मामले में दोषी को सात वर्ष तक के कारावास और जुर्माना हो सकता है। जिस युवती से विवाह की रस्में पहले की गई है वह विधिपूर्ण विवाहिता पत्नी है। दूसरी नहीं होगी। दूसरी पत्नी,पति से मिलने वाले अधिकार के लिए दावा नहीं कर सकती। दूसरी शादी में हाजिर और सहयोग करने वाले लोग भी अपराधी माने जाएंगे।

कोई अनुमति नहीं दी गई

घोड़ाडोंगरी की तहसीलदार मोनिका विश्वकर्मा ने बताया कि कोरोनाकाल में शादियों के लिए अनुमति लेना जरूरी है। हमारे द्वारा ऐसी किसी शादी की अनुमति नहीं दी गई है। बिना अनुमति के यह शादी हुई है, पटवारी को गांव में भेजकर मामले की जांच करा रहे हैं।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it