Top
Begin typing your search...

ममता के बाद चंद्रबाबू नायडू ने दिया जीत के 'हीरो' प्रशांत किशोर को बड़ा ऑफर!

ममता के बाद चंद्रबाबू नायडू ने दिया जीत के हीरो प्रशांत किशोर को बड़ा ऑफर!
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगनमोहन रेड्डी को विधानसभा चुनावों में शानदार जीत दिलाने के बाद प्रशांत किशोर अब टीडीपी चीफ चंद्रबाबू नायडू के साथ भी बातचीत कर रहे हैं. ऐसी ख़बरें हैं कि चंद्रबाबू नायडू ने प्रशांत किशोर की कंपनी इंडियन पॉलिटिकल एक्शन कमेटी (IPAC) को चुनावी रणनीति बनाने के लिए एक बड़े ऑफर की पेशकश की है.

पूर्व मुख्यमंत्री के करीबी सूत्रों के अनुसार, चंद्रबाबू नायडू ने इंडियन पॉलिटिकल एक्शन कमेटी (IPAC) से कई वर्षों के लिए अनुबंध की पेशकश की है. हालांकि यह अभी स्पष्ट नहीं है कि आधिकारिक समझौता हुआ है या नहीं, सूत्रों ने News18 को बताया कि नायडू ने IPAC को एक प्रस्ताव रखा है. 2016 में भी नायडू प्रशांत किशोर को साथ लाने की बात हुई थी, लेकिन तब यह सौदा नहीं हुआ पाया था.

जगन की जीत के 'हीरो' हैं प्रशांत किशोर

बता दें कि प्रशांत किशोर ने हाल ही में आंध्र प्रदेश में जगनमोहन रेड्डी के नेतृत्व वाली वाईएसआर कांग्रेस को सत्ता तक पहुंचाया है. वाईएसआर ने विधानसभा चुनाव में शानदार जीत हासिल की है. प्रशांत किशोर की चुनावी रणनीति की वजह से चंद्रबाबू को अपनी कुर्सी गंवानी पड़ी. आम चुनाव में जगनमोहन रेड्डी की वाईएसआर कांग्रेस ने आंध्र प्रदेश की सभी 25 सीटें जीतीं और विधानसभा में 175 में से 150 सीटों पर कब्जा जमाया.

जगनमोहन रेड्डी ने 2017 में प्रशांत किशोर को काम पर रखा था, जब वह संपत्ति के आरोपों घिरे हुए थे. IPAC टीम का पहला कदम 3,600 किलोमीटर की पदयात्रा था. रेड्डी की आंध्र के लोगों से संपर्क के लिए 341 दिन की इस पदयात्रा ने उनके पक्ष में माहौल बनाने में मदद की. जिसने मतदाताओं को करीब लाने का काम किया.

Special Coverage News
Next Story
Share it