Top
Home > राज्य > आंध्र प्रदेश > जगन सरकार ने लॉकडाउन से परेशान 2.5 लाख से आधिक ड्राइवरों के खाते में भेजे 10 हजार रुपए

जगन सरकार ने लॉकडाउन से परेशान 2.5 लाख से आधिक ड्राइवरों के खाते में भेजे 10 हजार रुपए

 Arun Mishra |  4 Jun 2020 1:35 PM GMT  |  दिल्ली

जगन सरकार ने लॉकडाउन से परेशान 2.5 लाख से आधिक ड्राइवरों के खाते में भेजे 10 हजार रुपए

कोरोना वायरस महामारी की रोकथाम के लिए लागू बंद की वजह से प्रभावित टैक्सी और ऑटो चालकों की मदद के लिए आंध्र प्रदेश सरकार ने वाईएसआर वाहन मित्र योजना के दो लाख 62 हजार 493 लाभार्थियों को चार महीने पहले ही 10-10 हजार रुपये की राशि बैंक खाते में दी।

मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने वाईएसआर वाहन मित्र योजना के तहत 262.49 करोड़ रुपये दो लाख 62 हजार 493 लाभार्थियों को दिए जाने की घोषणा की है। यह घोषणा उन्होंने जिला कलेक्टरों और लाभार्थियों के साथ एक डिजिटल सम्मेलन के दौरान की।

बयान में कहा गया कि मुख्यमंत्री ने लाभार्थियों से अपील की है कि वह इस धन का इस्तेमाल जरूरी उद्देश्यों के लिए करें न कि इसे शराब पर खर्च करें। इससे यात्री और चालक दोनों खतरे में पड़ेंगे। इस योजना की घोषणा चार अक्तूबर, 2019 को हुई थी। इसका लक्ष्य सालाना ऑटो और टैक्सी चालकों को बीमा की राशि, लाइसेंस शुल्क और अन्य खर्चे में मदद देने के लिए किया गया था।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने कल्याणकारी योजनाओं के लिए कैलेंडर की घोषणा की है जिसमें ऑटोरिक्शा और टैक्सी ड्राइवरों को उनके खातों में 236 करोड़ रुपये हस्तांतरित किये जा रहे है। उन्होंने कहा कि 10 जून को नाइयों, धोबियों और दर्जी को वित्तीय सहायता दी जाएगी और एमएसएमई के लिए दूसरी किश्त 29 जून को जारी की जाएगी।

उन्होंने कहा कि सरकार का एक मात्र उद्देश्य पारदर्शिता लाना है और इसमें कोई विसंगति नहीं होगी और लाभार्थियों से अपील है कि वे इस धन का उपयोग करें और शराब पीकर वाहन न चलाएं। उन्होंने कहा कि इससे यात्रियों और चालकों को परेशानी होगी। उन्होंने कहा कि अगर कोई इस योजना के लाभ से वंचित रह जाता है तो वह व्यक्ति संबंधित गांव या वार्ड सचिवालय जा इस संबंध आवेदन कर सकता है।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Arun Mishra

Arun Mishra

Arun Mishra


Next Story

नवीनतम

Share it