Home > ज्योतिष > राशिफल > जानें- क्या कहता है आपका (बुधवार 18 सितंबर 2018) का राशिफल

जानें- क्या कहता है आपका (बुधवार 18 सितंबर 2018) का राशिफल

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार हमारे जीवन पर ग्रहों का प्रभाव ना सिर्फ जन्म के समय बल्कि पूरे जीवनकाल में होता है।

 Special Coverage News |  2018-09-19 01:50:23.0  |  दिल्ली

जानें- क्या कहता है आपका (बुधवार 18 सितंबर 2018) का राशिफल

आज बुधवार है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार हमारे जीवन पर ग्रहों का प्रभाव ना सिर्फ जन्म के समय बल्कि पूरे जीवनकाल में होता है। ग्रहों की स्थिति हरेक दिन हमारे भविष्य को प्रभावित करती हैं। आज के राशिफल से जानिए कि किस तरह रहेगा आपका आज का दिन? आपका आज का राशिफल क्या कहता है जानने के लिए पढ़ें राशिफलः

मेष राशि- मेष राशि का स्वामी ग्रह मंगल माना जाता है। भगवान श्री गणेश को मेष राशि का आराध्य देव माना जाता है। आत्मविश्वास भरपूर रहेगा। पारिवारिक जीवन सुखमय रहेगा। वस्त्रों आदि के प्रति रुझान बढ़ सकता है। शिक्षा में व्यवधान आ सकते हैं।

वृष राशि- वृषभ का राशि का स्वामी ग्रह शुक्र है। इस राशिवालों के लिए शुभ दिन शुक्रवार और बुधवार होते हैं। कुलस्वामिनी को वृषभ राशि का आराध्य माना जाता है। शैक्षिक एवं बौद्धिक कार्यों में सुधार आएगा। परिवार का सहयोग रहेगा। सन्तान की ओर से सुखद समाचार मिल सकते हैं।

मिथुन राशि-

मिथुन राशि का स्वामी ग्रह बुध होता है। इस राशि के जातक बेहद समझदार होते हैं। मिथुन राशि के आराध्य देव कुबेर होते हैं। आज आत्मविश्वास में कमी आएगी। मन अशांत रहेगा। माता के स्वास्थ्‍य में सुधार आयेगा। मानसिक शान्ति रहेगी। आय की स्थिति में सुधार होगा। धार्मिक कार्यों के प्रति रुझान रहेगा।

कर्क राशि- कर्क राशि का स्वामी ग्रह चंद्रमा है। भगवान शंकर को कर्क राशि का आराध्य देव माना जाता है। मानसिक असन्तोष रहेगा। माता-पिता का सानिध्य एवं सहयोग मिलेगा। नौकरी के लिए साक्षात्कारादि कार्यों में सफलता मिलेगी।

सिंह राशि- सिंह राशि का स्वामी ग्रह सूर्य है। इस राशि के लोग किसी के सामने झुकना नहीं पसंद नहीं करते हैं। सिंह राशि के आराध्य देव भगवान सूर्य होते हैं। मन अशान्त रहेगा। धार्मिक कार्यों में व्यस्तता बढ़ सकती है। जीवनसाथी का सहयोग मिलेगा। परन्तु संसाधनों में कमी आ सकती है।

कन्या राशि- कन्या राशि के जातक बेहद धार्मिक प्रवृत्ति के होते हैं। मान्यता है कि कन्या राशि के आराध्य देव कुबेर जी होते हैं। आत्मविश्वास रहेगा। धार्मिक कार्यों में व्यस्तता बढ़ सकती है। जीवनसाथी का सहयोग मिलेगा परन्तु संचित धन में कमी आ सकती है।

तुला राशि- तुला राशि के जातक भोले स्वभाव के होते हैं। कुलस्वामिनी को तुला राशि का आराध्य माना जाता है। माता-पिता के सुख में कमी रहेगी। आय में कमी एवं खर्चों में वृद्धि की स्थिति रहेगी। किसी राजनेता से भेंट हो सकती है। स्वास्थ्‍य का ध्यान रखें।

वृश्चिक राशि- वृश्चिक राशि का स्वामी ग्रह मंगल है। वृश्चिक राशि के जातकों के आराध्य देव गणेश जी होते हैं। आय में व्यवधान आएंगे और खर्च अधिक रहेंगे। माता-पिता से आर्थिक सहयोग मिल सकता है। धार्मिक कार्यों में व्यवधान आ सकते हैं।

धनु राशि- धनु राशि का स्वामी ग्रह "गुरु" को माना जाता है। धनु राशि के आराध्य देव "दत्तोत्रय" होते हैं। जीवनसाथी के स्वास्थ्‍य में सुधार होगा। नौकरी में तरक्की के अवसर मिल सकते हैं। शैक्षिक कार्यों के सार्थक परिणाम मिलेंगे।

मकर राशि- मकर राशि का स्वामी ग्रह शनि होता है। भगवान शनि देव और हनुमान जी को मकर राशि का आराध्य देव माना जाता है।परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थान की यात्रा के कार्यक्रम बन सकते हैं। जीवनसाथी को स्वास्थ्‍य विकार हो सकते हैं। खर्च अधिक रहेंगे।

कुंभ राशि- कुंभ राशि के जातक बेहद गुस्सैल किस्म के होते हैं। भगवान शनि देव और हनुमान जी को कुंभ राशि का आराध्य देव माना जाता है। धार्मिक संगीत के प्रति रुझान बढ़ेगा। परिश्रम की अधिकता रहेगी। किसी मित्र के सहयोग से आय वृद्धि के स्रोत विकसित हो सकते हैं।

मीन राशि- मीन राशि के जातक बेहद शांत स्वभाव के और मेहनती होते हैं। मीन राशि के आराध्य देव "दत्तोत्रय" होते हैं। आज संतान को स्‍वास्‍थ्‍य विकार हो सकते हैं। कुछ पुराने साथियों से भेंट हो सकती है। सुख-सुविधाओं के विस्तार पर खर्च बढ़ सकते हैं।

Tags:    
Share it
Top