Top
Begin typing your search...

जीतन राम मांझी ने तेजस्वी को दिया करारा जवाब, सभी दलों के अपने....

2020 में होने वाले बिहार विधानसभा चुनाव में महागठबंधन का नेता अभी तक तय नहीं हुआ है।

जीतन राम मांझी ने तेजस्वी को दिया करारा जवाब, सभी दलों के अपने....
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पटना | 2019 लोकसभा चुनाव में भाजपा को छोड़ किसी भी पार्टी का प्रर्दशन कुछ खास नही रहा। कई राज्यों में विपक्ष को एक भी सीट पर विजय नही मिली। हार जीत पर हर पार्टी समीक्षा करने पर लगी हैं। तो बिहार में एनडीए को छोड़ किसी भी पार्टी को जीत नही मिली तो 40 लोकसभा में केवल एक सीट पर कांग्रेस को विजय मिली है। यूपीए के महागठबंधन में उठा सियासी तूफान थमने का नाम नहीं ले रहा है। महागठबंधन में शामिल हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के प्रमुख और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने गुरुवार को स्पष्ट कर दिया कि 2020 में होने वाले बिहार विधानसभा चुनाव में महागठबंधन का नेता अभी तक तय नहीं हुआ है।

मांझी का कहना है कि तेजस्वी प्रसाद यादव राजद के नेता हो सकते हैं लेकिन वह अभी महागठबंधन के नेता नहीं हैं। पटना में मांझी ने पत्रकारों से कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव के लिए अभी नेता या महागठबंधन की ओर से मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार तय नहीं हुआ है। महागठबंधन में शामिल सभी दलों के नेता बैठकर इस पर निर्णय लेंगे।

2020 में बिहार में विधानसभा चुनाव होने को है जब मांझी से पूछा गया कि राजद के साथ मिलकर चुनाव लड़ेगे तो मांझी ने कहा कि, "तेजस्वी राजद के नेता हो सकते हैं। सभी दल के अपने नेता होते हैं परंतु वे महागठबंधन के नेता नहीं हो सकते।"

हालांकि पिछले दिनो लोकसभा चुनाव में हार के बाद पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास पर राजद की समीक्षा बैठक हुई थी, जिसमें यह तय हुआ है कि तेजस्वी नेता बने रहेंगे। बैठक तेजप्रपाप ने कहा कि बिहार में हार का ठिकरा तेजस्वी पर नही फोड़ा जा सकता है। हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा लोकसभा चुनाव में मिली हार के बाद गुरुवार को समीक्षा बैठक कर रही है।

Sujeet Kumar Gupta
Next Story
Share it