Top
Begin typing your search...

बिहार में विपक्षी दलों के महागठबंधन को बड़ा झटका, शकील अहमद मधुबनी सीट से निर्दलीय ठोकेंगे ताल

कांग्रेस के नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री शकील अहमद ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है

बिहार में विपक्षी दलों के महागठबंधन को बड़ा झटका, शकील अहमद मधुबनी सीट से निर्दलीय ठोकेंगे ताल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
नई दिल्ली : बिहार में विपक्षी दलों के महागठबंधन में शामिल कांग्रेस के नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री शकील अहमद ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है. साथ ही उन्होंने मधुबनी सीट से बतौर निर्दलीय चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी. उन्होंने सोमवार को कहा कि 16 अप्रैल को वे नामांकन पर्चा दाखिल करेंगे. अहमद ने मधुबनी में सोमवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए बताया कि उन्होंने आलाकमान से टिकट अथवा समर्थन देने की आग्रह किया है.

शकील अहमद ने उदाहरण देते हुए कहा, "झारखंड के चतरा में हमारे उम्मीदवार के खिलाफ राजद ने दोस्ताना मुकाबले के रूप में अपना उम्मीदवार खड़ा किया है. उसी तरह से मधुबनी से मुझे पार्टी को टिकट देना चाहिए और दोस्ताना मुकाबले में उतरने की अनुमति देनी चाहिए."

उन्होंने सुपौल का उदाहरण देते हुए कहा कि सुपौल में कांग्रेस अधिकृत प्रत्याशी को समर्थन नहीं देकर राजद ने एक निर्दलीय प्रत्याशी को समर्थन देने की घोषणा की है. इसी तरह मधुबनी में भी कांग्रेस उन्हें समर्थन दे.

उन्होंने कांग्रेस आलाकमान से चतरा या सुपौल जो उचित हो, उस आधार पर सहयोग करने का आग्रह किया है.

उल्लेखनीय है कि महागठबंधन के सीट बंटवारे में मधुबनी सीट विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के हिस्से आई है, जहां से महागठबंधन ने बद्रीनाथ पूर्वे को अपना उम्मीदवार बनाया है. पूर्वे का मुकाबला भाजपा ने दिग्गज निवर्तमान सांसद हुकुमदेव नारायण यादव के बेटे अशोक यादव से है.

Special Coverage News
Next Story
Share it