Top
Home > राज्य > बिहार > 55 करोड़ के सोना लूट कांड के आरोपी की जेल में गोली मारकर हत्या, आरोपी गिरफ्तार

55 करोड़ के सोना लूट कांड के आरोपी की जेल में गोली मारकर हत्या, आरोपी गिरफ्तार

कोर्ट में पेशी के दौरान भी हो चुकी थी फायरिंग?

 Arun Mishra |  3 Jan 2020 1:31 PM GMT  |  दिल्ली

55 करोड़ के सोना लूट कांड के आरोपी की जेल में गोली मारकर हत्या, आरोपी गिरफ्तार
x

बिहार में अपराध थमने का नाम नहीं ले रहा. यहां पर अपराधी बेखौफ हैं. बिहार के हाजीपुर में एक कैदी की गोली मारकर हत्या कर दी गई. सोना लूट कांड के आरोपी मनीष कुमार को जेल के अंदर गोली मारी गई. घटना के बाद मौके पर बड़ी संख्या में पुलिसवाले जेल पहुंचे. मनीष कुमार सिंह बिदुपुर थाना क्षेत्र का रहने वाला था.

मनीष कुमार सोना लूट गैंग का सदस्य था. उसके सिर में गोली मारी गई. पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. मनीष कुमार पर लोकसभा चुनाव की काउंटिंग वाले दिन भी हाजीपुर कोर्ट में फायरिंग हुई थी.

सूचना मिलते ही स्थानीय डीएसपी और सदर अनुमंडल पदाधिकारी हाजीपुर मंडल कारा पहुंचे और जेल अधीक्षक से वारदात के संबंध में जानकारी ली. घटना की सूचना मिलने पर जेल आईजी भी मौके पर पहुंच चुके हैं.

बताया जाता है कि सोना लूट कांड का मास्टर माइंड अनु सिंह के निर्देश पर उसके साथी राजा ने मनीष कुमार को गोली मारी है. पुलिस द्वारा सर्च जेल के भीतर सर्च अभियान चलाये जाने के बाद जेल के अंदर ही हत्या में प्रयुक्त पिस्टल को बरामद कर लिया है. गोली कांड मामले में सोना लूट कांड के मास्टर माइंड अनु सिंह और उसके सहयोगी राजा कुमार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. मृत कैदी मनीष कुमार जयपुर सोना लूट कांड में आरोपित था. वहीं, सोना लूट कांड का मास्टर माइंड अनु सिंह का सहयोगी राजा आर्म्स एक्ट में जेल आया था. अनु सिंह के निर्देश पर ही राजा ने मनीष कुमार को गोली मार दी है.

कोर्ट में पेशी के दौरान मनीष पर हो चुकी थी फायरिंग

हाजीपुर कोर्ट में 23 मई, 2019 की सुबह पेशी के दौरान जंदाहा थाने के तेलिया गांव निवासी मनीष कुमार पर अपराधियों ने अंधाधुंध फायरिंग कर दी थी. कोर्ट परिसर में अपराधियों द्वारा मनीष कुमार पर फायरिंग किये जाने की घटना में दो पुलिसकर्मी भी घायल हो गये थे.

हाजीपुर जेल में बंद कैदी मनीष कुमार सोना लुटेरा मनीष सिंह गैंग का गुर्गा है. पुलिस ने उसे साल 2018 में गिरफ्तार किया था. वह आर्म्स एक्ट के मामले में जेल में बंद है. 16 मार्च, 2019 को वैशाली जिले के महनार थाने की हसनपुर दक्षिणी पंचायत के बहलोलपुर दियारा में एसटीएफ ने राजस्थान में सोना लूटकांड समेत कई संगीन मामलों में शामिल मनीष सिंह गैंग के तीन अपराधियों को मार गिराया था. साथ ही मौके से दो AK-47, एक राइफल, एक पिस्टल समेत भारी मात्रा में कारतूस बरामद किये थे. राघोपुर दियारा क्षेत्र निवासी मनीष सिंह हाजीपुर हथसारगंज मोहल्ले में रहता था. उसके अलावा मुजफ्फरपुर के मनियारी थाना क्षेत्र निवासी मो अब्दुल इमाम उर्फ राजकुमार और समस्तीपुर जिले के मथुरापुर ओपी क्षेत्र के शेखोपुर गांव निवासी अब्दुल अमान उर्फ तिवारी मुठभेड़ में मारे गये थे. वैशाली के तत्कालीन एसपी डॉ मानवजीत सिंह ढिल्लो के मुताबिक, गिरोह का सरगना मनीष सिंह कुख्यात सुबोध सिंह का दाहिना हाथ था. सुबोध सिंह को एसटीएफ ने गिरफ्तार कर लिया था. इसके बाद मनीष सिंह और उसके गिरोह देश के विभिन्न शहरों में सोना लूटकांड की घटनाओं को अंजाम देने के बाद दियारा क्षेत्र में आकर छिप जाते थे. राजस्थान, जयपुर, कोलकाता, मुंबई सहित कई शहरों में सोना लूटकांडों को मनीष सिंह गिरोह ने ही अंजाम दिया था.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Arun Mishra

Arun Mishra

Arun Mishra


Next Story
Share it