Breaking News
Home > राज्य > बिहार > पटना > बिहारः फंसते जा रहे छोटे सरकार,घर से एके 47 मिलने के बाद विधायक के खिलाफ UAPA के तहत केस दर्ज

बिहारः फंसते जा रहे 'छोटे सरकार',घर से एके 47 मिलने के बाद विधायक के खिलाफ UAPA के तहत केस दर्ज

मोकामा के बाहुबली विधायक की मुश्किलें बढ़ती जा रही है। पुलिस ने कागजी तौर पर उनकी गिरफ्तारी के लिए घेराबंदी कर ली है अब महज औपचारिकता ही बाकी है।

 Special Coverage News |  18 Aug 2019 4:30 AM GMT  |  पटना

बिहारः  फंसते जा रहे

पटना-(शिवानन्द गिरि)

मोकामा के बाहुबली विधायक की मुश्किलें बढ़ती जा रही है। पुलिस ने कागजी तौर पर उनकी गिरफ्तारी के लिए घेराबंदी कर ली है अब महज औपचारिकता ही बाकी है।

बिहार में मोकामा से निर्दलीय और कथित तौर पर बाहुबली विधायक अनंत सिंह के पैतृक घर से एके-47 राइफल और ग्रेनेड जब्त किये जाने के बाद उनके खिलाफ अवैध गतिविधि रोकथाम (यूएपीए) कानून के तहत मामला दर्ज किया गया है. पुलिस ने शनिवार को यह जानकारी दी.

पटना (ग्रामीण) के पुलिस अधीक्षक कांतेश कुमार मिश्र ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि इस संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है कि इस अत्याधुनिक हथियार का उपयोग 'कुछ बड़ी घटनाओं' में किया गया हो।

जब उनसे पूछा गया कि क्या विधायक को गिरफ्तार किया जाएगा, उन्होंने कहा कि इस मामले की जांच की जा रही है और जांच के दौरान जो भी सबूत सामने आयेगा, पुलिस उस हिसाब से कार्रवाई करेगी.

पुलिस अधीक्षक ने पत्रकारों को बताया है, ''शुक्रवार को अनंत सिंह के पैतृक घर पर छापे के दौरान अत्याधुनिक हथियार एके-47 और ग्रेनेड मिलने पर उनपर यूएपीए के तहत मामला दर्ज किया गया है।''

उन्होंने बताया कि एक गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस ने बाढ़ उपसंभाग के लदमा गांव में अनंत सिंह के पैतृक घर पर छापा मारा था और एक ए के 47 एवं दो हथगोले बरामद जब्त किये थे.

हाल ही में संसद ने केंद्र को किसी भी व्यक्ति को आतंकवादी घोषित करने और उसकी संपत्ति जब्त करने का अधिकार प्रदान करने के लिए यूएपीए में संशोधन को मंजूरी दी थी.

बाढ़ उपसंभाग की पुलिस अधिकारी लिपि सिंह ने कहा, '' हम कानून के अनुसार और वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर आगे बढ़ रहे हैं। हम कागजी कार्य पूरा कर रहे हैं और उनके खिलाफ वारंट जारी करने का अनुरोध करते हुए प्राथमिकी के साथ सभी दस्तावेज अदालत में सौंपेंगे. ''

'छोटे सरकार' के नाम से इलाके में चर्चित सिंह का लंबा आपराधिक रिकार्ड है और उन्हें मोकामा के एक ठेकेदार की जान लेने की कोशिश के सिलसिले में आवाज का नमूना देने के लिए हाल ही में पटना पुलिस मुख्यालय तलब किया गया था.

विधायक ने अपने पैतृक घर पर छापे को लेकर कड़ी प्रतिक्रिया दी है और आरोप लगाया कि जदयू सांसद लल्लन सिंह के इशारे पर उनके खिलाफ साजिश रची गई है.

उन्होंने कहा, ''मेरे घर से जिन हथियारों की बरामदगी दिखायी जा रही है, वे तो मेरे हैं ही नहीं। छापे के दौरान घर में बुरी तरह तोड़फोड़ की गयी.'' विधायक के खिलाफ कार्रवाई से बिहार की सियासत भी गर्माने लगी है. जान अधिकार पार्टी के नेता राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव खुलकर अनन्त सिंह के समर्थन में आ गए हैं।उन्होंने सरकार पर अनंत सिंह को जानबूझकर टारगेट करने का आरोप लगाया है।

पुलिस ने विधायक के आरोपों का खंडन किया और कहा कि छापा कानून के अनुरूप एक मजिस्ट्रेट और घर के केयरटेकर की उपस्थिति में मारा गया. साथ ही, पूरी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी भी की गई.

राजीव रंजन सिंह उर्फ लल्लन सिंह मुंगेर लोकसभा क्षेत्र से जदयू सांसद है. इसी लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत मोकामा विधानसभा क्षेत्र पड़ता है. लल्लन सिंह ने अनंत सिंह की पत्नी नीलम देवी को हराया था जो कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ी थीं.

अनंत सिंह पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के करीबी बताये जाते थे लेकिन 2015 के विधानसभा चुनाव से पहले दोनों के रास्ते अलग हो गए. अनंत सिंह जदयू से निकल गये और उन्होंने निर्दलीय के रूप में मोकामा विधानसभा सीट बचाए रखी।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top