Top
Begin typing your search...

नए साल पर बिहार में 12 IAS और 13 IPS का तबादला, लिपि सिंह बनीं सहरसा एसपी

दयाशंकर को पूर्णिया एसपी, संतोष कुमार को छपरा एसपी, कार्तिकेय शर्मा को शेखपुरा एसपी, सुशांत कुमार सरोज को भागलपुर एसपी और आनंद कुमार को गोपालगंज एसपी बनाया गया है.

नए साल पर बिहार में 12 IAS और 13 IPS का तबादला, लिपि सिंह बनीं सहरसा एसपी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पटना : नए साल के मौके पर बिहार सरकार ने 12 जिलों के कलेक्टर और 13 जिलों के पुलिस अधीक्षक का तबादला कर दिया गया है. जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह की बेटी आईपीएस अफसर लिपि सिंह को सहरसा का नया एसपी बनाया गया है. लिपि सिंह को मुंगेर में मूर्ति विसर्जन के दौरान बवाल के बाद चुनाव आयोग ने हटा दिया था.

चंद्रशेखर सिंह को पटना का नया जिलाधिकारी बनाया गया है. इसके अलावा अवनीश कुमार सिंह को जमुई, प्रणब कुमार को मुजफ्फरपुर, जे प्रियदर्शनी को अरवल, सज्जन आर को शिवहर, श्याम बिहारी मीणा को मधेपुरा, सुब्रत कुमार सेन को भागलपुर , नवदीप शुक्ला को कैमूर, नवल किशोर चौधरी को गोपालगंज, धर्मेंद्र कुमार को सासाराम, अमित कुमार को मधुबनी और डी नीलेश रामचंद्र को सारण का नया डीएम बनाया गया है.

इसके अलावा अजीत कुमार को गया एसएसपी, निताशा गुड़िया को भागलपुर एसएसपी, राजेश कुमार को कैमूर एसपी, आशीष भारती को रोहतास एसपी, हरिप्रसाद एस को नालंदा एसपी, धुरत सियाली को नवादा एसपी, संजय भारती को शिवहर एसपी,

लिपि सिंह को सहरसा एसपी, दयाशंकर को पूर्णिया एसपी, संतोष कुमार को छपरा एसपी, कार्तिकेय शर्मा को शेखपुरा एसपी, सुशांत कुमार सरोज को भागलपुर एसपी और आनंद कुमार को गोपालगंज एसपी बनाया गया है.

आईपीएस लिपि सिंह को एक बार फिर से जिला की कमान दी गई है और उन्हें सहरसा का पुलिस अधीक्षक बनाया गया है. लिपि सिंह जनता दल यूनाइटेड के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह की बेटी है. आरसीपी सिंह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बेहद करीबी हैं.

बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान मुंगेर में स्थानीय लोगों और पुलिस के बीच हुई हिंसा के बाद सरकार ने उस समय के तत्कालीन पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह को हटा दिया था. मुंगेर में मूर्ति विसर्जन के दौरान हुई हिंसा में एक युवक की गोली लगने से मौत हो गई थी. स्थानीय लोगों का आरोप था कि एसपी लिपि सिंह के कहने पर पुलिस वालों ने गोली चलाई थी जिसमें एक युवक की मौत हुई थी.

स्थानीय लोगों के दबाव की वजह से सरकार ने उस वक्त लिपि सिंह को मुंगेर एसपी के पद से हटा दिया था. दो महीने के बाद अब उन्हें फिर से जिला की कमान सौंपी गई है और उन्हें सहरसा पुलिस अधीक्षक बना दिया गया है.

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it