Top
Begin typing your search...

कन्हैया कुमार को लेकर प्रशांत किशोर तोड़ी चुप्पी, तो सीएम नीतीश कुमार को पिता तुल्य बताया

सीपीआई नेता कन्हैया कुमार पिछले लगभग एक पखवाड़े से बिहार में यात्रा कर रहे हैं. अपनी यात्रा के दौरान कन्हैया प्रदेश के कई जिलों में जा रहे हैं

कन्हैया कुमार को लेकर प्रशांत किशोर तोड़ी चुप्पी, तो सीएम नीतीश कुमार को पिता तुल्य बताया
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पटना। दिल्ली में केजरीवाल सरकार को प्रचंड बहुमत से सत्ता में वापसी कराकर अपनी रणनीति का लोहा मनवा चुके प्रशांत किशोर मंगलवार को पटना में प्रेस कांफ्रेंस किया। प्रेस कांफ्रेंस के दौरान प्रशांत किशोर ने एक तरफ जहां नीतीश कुमार के कई कामों की सराहना की वहीं बिहार के विकास को लेकर विजन की कमी होने पर भड़के भी। प्रशांत ने नीतीश से साथ अपने संबंधों का खुलासा करते हुए उन्हें पितातुल्य बताया।

आगे उन्होने कहा कि उनसे मेरा राजनीतिक संबंध नहीं है। उन्होंने मुझे बेटे की तरह रखा। उनसे मेरा सिर्फ वैचारिक मतभेद है। लेकिन उनकी प्रेसवार्ता का असल निशाना प्रदेश में अगले कुछ महीनों में होने वाला विधानसभा चुनाव था, यह साफ दिखा. इसलिए किशोर ने नीतीश और बीजेपी के साथ भाकपा नेता कन्हैया कुमार को लेकर भी विचार प्रकट किया।

उन्होंने कहा कि वह नीतीश के हर फैसले को स्वीकार करते हैं। उस पर कोई टीका-टिप्पणी नहीं करेंगे। लेकिन उन्होंने भाजपा के साथ गठबंधन पर सवाल उठाते हुए कहा कि गांधी और गोडसे साथ नहीं चल सकते हैं। पत्रकारों से बातचीत में प्रशांत किशोर ने बड़ा एलान करते हुए 20 फरवरी से 'बात बिहार की' नाम से कार्यक्रम शुरू करने का एलान किया।

बिहार के लड़के हैं कन्हैया

प्रशांत किशोर ने पटना में मीडिया के साथ बातचीत करते हुए कन्हैया कुमार के बारे में कहा कि वे उनसे पहले मिले हैं. प्रशांत किशोर ने कहा, 'कन्हैया कुमार से मैं पहले भी मिला हूं. कन्हैया कुमार बिहार के लड़के हैं, कुछ करना चाहते हैं, मुझे उससे कोई गुरेज नहीं है.'

आपको बता दें कि सीपीआई नेता कन्हैया कुमार पिछले लगभग एक पखवाड़े से बिहार में यात्रा कर रहे हैं. अपनी यात्रा के दौरान कन्हैया प्रदेश के कई जिलों में जा रहे हैं और वहां केंद्र सरकार द्वारा हाल ही में पारित नागरिकता संशोधन कानून, एनआरसी और एनपीआर के विरोध में लोगों को एकजुट करने की कोशिश कर रहे हैं. इस यात्रा के दौरान बिहार के कई जिलों में कन्हैया कुमार के काफिले पर हमले भी हुए हैं, जिसको लेकर वे चर्चा में बने हुए हैं.

Sujeet Kumar Gupta
Next Story
Share it