Top
Breaking News
Home > Archived > बर्थडे स्पेशल : जन्मदिन मुबारक हो श्रेया घोषाल

बर्थडे स्पेशल : जन्मदिन मुबारक हो श्रेया घोषाल

 Special News Coverage |  12 March 2016 9:36 AM GMT





मुंबई : बॉलीवुड की खूबसूरत गायिका श्रेया घोषाल का आज 32वां जन्मदिन है। श्रेया घोषाल का जन्म 12 मार्च 1984 को हुआ था। श्रेया बंगाली परिवार से है। श्रेया राजस्थान कोटा के पास रावतभाटा में पलीं बढ़ीं। उनके पिता भाभा परमाणु अनुसंधान केन्द्र में नाभिकीय ऊर्जा संयंत्र इंजीनियर हैं। श्रेया घोषाल के जन्मदिन के इस खास मौके पर हम आपसे शेयर करेंगे उनकी निजी जिन्दगी की और गायिकी के सफर की कुछ बातें।

जिस उम्र में लड़कियां गुड़ियाओं से खेलने में रुचि रखती थी, उस उम्र में श्रेया ने पहली बार हारमोनियम पर अपनी मॉ के साथ चार साल की उम्र में संगत की। उसके बाद उनके माता-पिता ने उन्हें कोटा में महेशचंद्र शर्मा के पास हिंदुस्तानी शास्त्रीय संगीत की विधिवत् शिक्षा के लिए भेज दिया।




सा रे गा मा से मिली पहचान ?
श्रेया ने अपन पहला खिताब सा रे गा मा चिल्ड्रन स्पेशल में जीता। उस समय वो बच्ची थी। उस समय सोनू निगम कार्यक्रम की मेजबानी किया करते थे। उनके साथ निर्णायक मंडल में कल्याण जी भी सा रे गा मा से जुड़े हुए थे। उन्होने ने ही श्रेया के माता पिता को मुम्बई आने के लिए मनाया। मुम्बई में ही रहकर श्रेया ने 18 महिने कल्याण जी से शिक्षा ली और मुम्बई के ही मुक्त भिड़े से शास्त्रीय संगीत की शिक्षा को जारी रखा। लेकिन उस समय उनको किसी फिल्म में गाने का मौका नही मिला।



संजय लीला भंसाली की देवदास से मिला मौका
सा रे गा मा में श्रेया ने दूसरी बार भाग लिया। इस बार वो बच्चों के साथ नही बल्कि व्यस्क प्रतिभागियों के साथ प्रतिस्पर्धा में थी। इस प्रतिस्पर्धा में उन्होने अपनी गायिकी से फिल्म निर्देशक संजय लीला भंसाली का ध्यान अपनी ओर तब खींचा। और साल 2000 में, उन्होंने अपनी फिल्म देवदास में मुख्य महिला किरदार पारो यानि एश्वर्या राय को आवाज देने का प्रस्ताव मिला। इस फिल्म के लिए श्रेया ने इस्माइल दरबार के संगीत निर्देशन में पांच गाने गाए।

फिल्म देवदास में अपनी गायिकी से श्रेया घोषाल जल्द ही उचाईयों को छूने लगी। श्रोताओं को उनकी आवाज बेहद पसंद आई। जिसके बाद से ही उनका नाम बॉलिवुड जगत के दिग्गज गायकों में शामिल हो गया।

देवदास के बाद, ए. आर. रहमान, अनु मलिक, हिमेश रेशमिया, मणि शर्मा, एम. एम. किरावनी, नदीम-श्रवण, शंकर-एहसान-लॉयल, प्रीतम, विशाल-शेखर, हंसलेखा, मनो मूर्ति, गुरुकिरण, इल्लया राजा, युवन शंकर राजा और हैरीज जयराज समेत बहुत सारे संगीत निर्देशकों के निर्देशन में बहुत सारी अभिनेत्रियों के लिए गाती रही हैं। उन्होंने उत्तर और दक्षिण फिल्म उद्योगों के लिए बहुत सारे पुरस्कार जीते हैं। भूल-भुलैया के ‘मेरे ढोलना’ गीत के लिए भी उन्हें बहुत वाहवाही मिली।



उनकी आवाज का गठन इस तरह का है कि रूमानी गीत उस पर फबता है और आवाज को वे बखूबी पेश कर सकती हैं (इसकी बहुत ही उम्दा मिसाल जिस्म का "जादू है नशा है" है)। देवदास के अलावा, जिस्म, साया, इंतेहां, आउट ऑफ कंट्रोल, खाकी, मुन्नाभाई MBBS, धूम, कुछ कहा आपने, अरमान, देश देवी, मुझे मेरी कमस, LOC कारगिल, एतबार, क्रिश, पुलिस फोर्स, लगे रहो मुन्नाभाई, गुरु, बिग B, सागर एलियाज जैकी रिलोडेड से लेकर हाल की ब्लू, कुर्बान, गजनी, रब ने बना दी जोड़ी, 3 इडियट्स,P.K वगैरह के लिए उन्होंने गाने गाए।

लगातार हिट गाने देने के बाद श्रेया घोषाल को अब तक पांच फिल्म फेयर अवार्ड्स से नवाजा जा चुका है।



गुपचुप रचाई शादी
अपनी शादी को लेकर श्रेया घोषाल काफी चर्चा में रहीं। लम्बे समय तक अपने ब्वॉयफ्रैंड शिलादित्य के साथ रिश्ते में रहने के बाद श्रेया ने उनके साथ गुपचुप तरीके से पांच फरवरी को शादी कर ली। शादी के बाद उन्होने खुद इस बात की जानकारी ट्वीट करके दी। श्रेया घोषाल के पति शिलादित्य मुंबई स्थित रेसिलियंट टेक्नॉलजीज नाम की कंपनी के मालिक हैं।

हिंदी के अलावा, उन्होंने असमिया, बंगाली, कन्नड़, मलयालम, मराठी, पंजाबी, तमिल और तेलुगु में भी गाने गाए हैं। अपनी शिक्षा उन्होने रावतभाटा के एटॉमिक एनर्जी सेंट्रल स्कूल (AECS) और अणुशक्तिनगर (मुंबई) से की। उसके बाद स्नातक के लिए उन्होंने SIES कॉलेज के कला संकाय में दाखिला लिया।



नेशनल फिल्म अवार्ड- बेस्ट फीमेल प्लेबैक सिंगर :
2002: - बैरी पिया (देवदास)
2006: - धीरे जलना (पहेली)
2007: - ये इश्क है (जब वी मेट)


फिल्म फेयर अवार्ड :
2003: फिल्म फेयर के साथ आरडी बर्मन अवार्ड फॉर न्यू म्यूजिक टैलेंट
2003: बेस्ट फीमेल प्लेबैक अवार्ड (कविता कृष्णमूर्ति के साथ साझा) - डोला रे (देवदास)
2004: बेस्ट फीमेल प्लेबैक अवार्ड - जादू है नशा है (जिस्म)
2008: बेस्ट फीमेल प्लेबैक अवार्ड - बरसो रे (गुरु)
2009: बेस्ट फीमेल प्लेबैक अवार्ड - तेरी ओर (सिंह इस किंग)


इसके अलावा श्रेया को 2007, 2008 में फिल्मफेयर अवार्ड साउथ भी मिल चुके हैं। साथ ही 4 बार आइफा, 3 बार जी सिने, 3 बार स्टार स्क्रीन अवार्ड भी मिल चुके हैं। गायकी में उन्हें अन्य 7 अवार्ड भी मिले हैं।






[evp_embed_video url="https://specialcoveragenews.in/wp-content/uploads/video/Amit-Jani.mp4" autoplay="true"]

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story

नवीनतम

Share it