Home > अनुपम खेर ने मोदी की तारीफों के पुल बांधने के अलावा क्या किया है : कादर खान

अनुपम खेर ने मोदी की तारीफों के पुल बांधने के अलावा क्या किया है : कादर खान

 Special News Coverage |  2016-01-30 12:34:46.0

अनुपम खेर ने मोदी की तारीफों के पुल बांधने के अलावा क्या किया है


मुंबई : बीते दिनों केंद्र की मोदी सरकार ने पद्म अवॉर्ड की सूची जारी की थी। जिसमें देश के 112 लोगों को पुरस्कार देने के नामों का ऐलान किया था। जिसमें बिजनेस, बॉलीवुड और कई सेलेब्स को पद्म अवॉर्ड में शामिल किया गया है। लेकिन इसी बीच बॉलीवुड से दिग्गज अभिनेता और कॉमेडियन कादर खान ने अनुपम खेर की काबिलियत पर सवाल खेड़े कर दिए है। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा, वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफों के पुल बांधने के अलावा क्या किया है?


कादर खान ने कहा है कि इस साल पद्म अवॉर्ड्स की सूची में बॉलिवुड से जिन लोगों को जगह मिली है, उसे देखने के बाद लगता है कि अच्छा ही है मुझे ये अवॉर्ड नहीं मिला। मैंने जिंदगीभर किसी की खुशामद नहीं की और न आगे करूंगा।

पिछली बार 'हो गया दिमाग का दही' फिल्म में दिखे कादर का मानना है कि पुरस्कार अपने आप में एक बहुत बड़ी चीज है, लेकिन इसकी अहमियत इससे सम्मानित होने वालों से होती है।

300 से अधिक फिल्मों में अभिनय कर चुके कादर ने दुखी मन से कहा, "पहले ईमानदारी थी इन पुरस्कारों में, लेकिन अब कम होती जा रही है। अफसोस की बात है कि सब बिक गए हैं। मतलबी हो गए हैं। लोग अब एक दूसरे की अदब करना भूल गए हैं और बहुत खुदगर्ज हो गए हैं।

कादर खान का नाम किसी भी सिनेप्रेमी के लिए नया नहीं है। उन्होंने कहा, मैं यही सोच लूंगा कि जिन्हें इस साल पद्मश्री दिया गया है, मैं उनके जितना काबिल नहीं हूं। मैं इस पुरस्कार के लिए मेरे नाम का सुझाव देने वाले सभी लोगों का शुक्रिया अदा करता हूं।

कादर ने कहा कि उनके लिए उनके चाहने वालों की मोहब्बत ही उनका अवॉर्ड है। उन्होंने कहा, "मैं उन्हें पुरस्कृत करने के सरकार के फैसले का विरोध नहीं कर रहा हूं, मैं तो बस यह जानना चाहता हूं कि मुझमें कहां कमी रह गई।

कादर खान ने आगे कहा, मैं सभी कलाकारों से राजनीति से कटने की गुजारिश करना चाहूंगा। लौट आओ दोस्तो, पॉलिटिक्स तुम्हारी मंजिल नहीं है।

Tags:    
Share it
Top