Home > मनोरंजन > बॉलीवुड > कंगना रनौत का करणी सेना को जवाब, 'मैं भी राजपूत हूं, एक-एक को नष्ट कर दूंगी'

कंगना रनौत का करणी सेना को जवाब, 'मैं भी राजपूत हूं, एक-एक को नष्ट कर दूंगी'

दरअसल, करणी सेना ने, रानी लक्ष्मीबाई पर बेस्ड एक्ट्रेस की फिल्म मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ झांसी की रिलीज का विरोध किया है?

 Special Coverage News |  18 Jan 2019 10:10 AM GMT  |  दिल्ली

कंगना रनौत का करणी सेना को जवाब, मैं भी राजपूत हूं, एक-एक को नष्ट कर दूंगी

मुंबई : बॉलीवुड की बोल्ड और बेबाक एक्ट्रेस कंगना रनौत ने करणी सेना की धमकी का मुंहतोड़ जवाब दिया है. दरअसल, करणी सेना ने, रानी लक्ष्मीबाई पर बेस्ड एक्ट्रेस की फिल्म मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ झांसी की रिलीज का विरोध किया है. उन्होंने निर्माताओं को धमकी दी कि अगर उन्हें फिल्म नहीं दिखाई गई तो वे तोड़फोड़ करेंगे और मूवी सिनेमाघरों में रिलीज नहीं होने देंगे.

कंगना ने करणी सेना की धमकी का करारा जवाब देते हुए कंगना ने कहा, "वो किसी से डरी नहीं हैं और बिना लड़े हिम्मत नहीं हारेंगी." एक्ट्रेस ने कहा- ''चार इतिहासकारों ने मणिकर्णिका देखी है. हमने सेंसर से सर्टिफिकेट भी लिया है. इस बारे में करणी सेना को भी बता दिया गया है, लेकिन वे लगातार मुझे हैरेस कर रहे हैं. अगर वे नहीं रुके तो उन्हें भी पता होना चाहिए कि मैं भी राजपूत हूं और उनमें से एक-एक को नष्ट कर दूंगी.''

बता दें कि मणिकर्णिका 25 जनवरी को रिलीज हो रही है. ये पीरियड ड्रामा, कंगना का ड्रीम प्रोजेक्ट है. मणिकर्णिका से कंगना बतौर डायरेक्टर भी डेब्यू कर रही हैं. उन्होंने डायरेक्टर कृष के NTR की बायोपिक में बिजी होने के बाद प्रोजेक्ट का निर्देशन खुद संभाला. शुरुआत से ही फिल्म विवादों में रही है. वहीं करणी सेना ने पिछले साल पद्मावत की रिलीज का भी विरोध किया था.

करणी सेना का आरोप

करणी सेना का आरोप है कि मणिकर्णिका में रानी लक्ष्मीबाई के किरदार को गलत तरीके से पेश किया गया है. रानी लक्ष्मीबाई के ब्रिटिश अफसर के साथ कथित अफेयर दिखाए जाने से सेना नाराज है. संगठन का दावा है कि फिल्म में रानी लक्ष्मीबाई को एक गाने पर डांस करते दिखाया गया है, जो राजपूतों की सभ्यता के खिलाफ है.

करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुखदेव सिंह शेखावत ने मणिकर्णिका पर कहा, ''कंगना रनौत की मणिकर्णिका का भी पद्मावत जैसा हाल होगा. हमने निर्माताओं से बात कर कहा कि वे हमें रिलीज से पहले फिल्म दिखाए. अगर वे हमें दिखाए बिना मूवी रिलीज कर देते हैं तो हम प्रॉपर्टी तोड़ेंगे और इसके उत्तदायी हम नहीं होंगे. हमें CBFC की क्लीयरेंस से कोई मतलब नहीं है. मेकर्स को फिल्म इतिहासकारों को दिखानी चाहिए ताकि वे फैक्ट्स को चैक किया जा सके.''

Tags:    
Share it
Top