Home > मनोरंजन > बॉलीवुड > प्रियंका और निक की सगाई के मौके पर इमोशनल हुईं बहन परिणीती चोपड़ा, सोशल मीडिया पर लिखा ये लेटर

प्रियंका और निक की सगाई के मौके पर इमोशनल हुईं बहन परिणीती चोपड़ा, सोशल मीडिया पर लिखा ये लेटर

प्रियंका चोपड़ा की सगाई के दौरान उनकी बहन इमोशनल हो गईं. उन्होनें सोशल मीडिया पर एक लंबा-चौड़ा पोस्ट किया है.

 Special Coverage News |  19 Aug 2018 5:14 AM GMT  |  दिल्ली

प्रियंका और निक की सगाई के मौके पर इमोशनल हुईं बहन परिणीती चोपड़ा, सोशल मीडिया पर लिखा ये लेटर

मुंबई : प्रियंका चोपड़ा और निक जोनस का रोका हो चुका है. उनके इस फंक्शन में बेहद करीबी लोग ही पहुंचे थे. प्रियंका के लिए ये दिन कई मायनों में बेहद खास और काफी इमोशनल रहा. बहुत जल्द ही दोनों शादी के पवित्र बंधन में बंध जाएंगे.

इस खूबसूरत मौके पर प्रियंका की कजिन सिस्टर परिणीति चोपड़ा लखनऊ से सीधा मुंबई पहुंच गईं. लेकिन इस मौके पर परिणीति बेहद इमोशनल हो गईं. बॉलीवुड अभिनेत्री परिणीति चोपड़ा ने अभी हाल ही में हुई प्रियंका चोपड़ा की सगाई के दौरान इमोशनल हो गईं. उन्होनें सोशल मीडिया पर एक लंबा-चौड़ा पोस्ट किया है.


Today I witnessed magic and a fairytale ... When we were kids, mimi didi and I used to play "ghar ghar". We would pretend to be shy brides, have imaginary children, and serve tea to our husbands! 🙈🙈 cheesy, but its because we always believed in the magic of love and hoped we would both find that perfect man for us one day!! Today there was no pretending. I cant think of a more a perfect man for her. Like I said this morning, there are two ways of judging a human being. One - travel with them, and two, eat with them. Nick, I have done both with you. And so I know you're perfect for her!! Love her, because she loves you like mad! Protect her, because shes strong, but a soft soul inside. I love you both and wish you all the happiness forever!!!!! HAPPY ROKA AND FUTURE WEDDING!! 💍💑@priyankachopra @nickjonas

A post shared by Parineeti Chopra (@parineetichopra) on


परिणीति ने लिखा कि, 'आज मैं एक जादू और परीकथा की साक्षी बनी. जब हम छोटे बच्चे थे, तो मीमी दीदी (प्रियंका) और मैं घर-घर खेला करते थे. हम शर्मीली दुल्हन बनने का नाटक करते थे, काल्पनिक बच्चे भी होते थे और अपने पतियों को चाय भी पेश किया करते थे. थोड़ा हल्का है, लेकिन ऐसा इसलिए था क्योंकि हम हमेशा प्यार के जादू में यकीन करते थे और हम दोनों उम्मीद करते थे कि हमें एक दिन परफेक्ट दूल्हे मिलेंगे.'

Tags:    
Share it
Top