Home > महंगाई की मार : पेट्रोल 1.06 और डीजल 2.94 रुपये प्रति लीटर हुआ महंगा

महंगाई की मार : पेट्रोल 1.06 और डीजल 2.94 रुपये प्रति लीटर हुआ महंगा

 Special News Coverage |  2016-05-01 03:14:23.0

महंगाई की मार : पेट्रोल 1.06 और डीजल 2.94 रुपये प्रति लीटर हुआ महंगा

नई दिल्ली: महंगाई एक बार फिर आम आदमी की कमर तोड़ने के लिए तैयार है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चा तेल की कीमतों में पिछले एक पखवाड़े के दौरान तेजी के मद्देनजर तेल कंपनियों ने शनिवार देर रात पेट्रोल के दाम 1.06 रुपये प्रति लीटर तथा डीजल के दाम 2.94 रुपये प्रति लीटर बढ़ा दिए हैं। नई दरें आधी रात से लागू होंगी। इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन ने यह जानकारी दी।

देश की सबसे बड़ी तेल कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (आईओसीएल)

ने बताया कि शनिवार-रविवार की मध्यरात्रि से राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 61.13 रुपये प्रति लीटर की जगह 62.19 रुपये प्रति लीटर मिलेगा। डीजल की कीमत 48.01 रुपये प्रति लीटर से बढ़कर 50.95 रुपये प्रति लीटर हो जाएगी।

IOCL ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में पेट्रोल तथा डीजल की कीमतों तथा डॉलर की तुलना में रुपये की विनिमय दर के अनुरूप दोनों पेट्रोलियम पदार्थों के मूल्य में घरेलू बाजार में भी बदलाव किए गए हैं। देश के चार महानगरों में पेट्रोल और डीजल की नई दरें इस प्रकार होंगी।

पेट्रोल की नई दरें : दिल्ली में 62.19 रुपये, कोलकाता में 65.73 रुपये, मुंबई में 66.71 रुपये और चेन्नई में 61.64 रुपये प्रति लीटर।

डीजल की नई दरें : दिल्ली में 50.95 रुपये, कोलकाता में 52.97 रुपये, मुंबई में 56.61 रुपये और चेन्नई में 51.78 रुपये प्रति लीटर।


इससे पहले तेल की कीमतों में बदलाव 15 अप्रैल को हुआ था, तब पेट्रोल 0.74 रुपये प्रति लीटर सस्ता हुआ था और डीजल की कीमतों में भी 1.30 रुपये प्रति लीटर की कमी की गई थी।

बता दें डीजल के दामों में यह पांचवीं बार बढ़ोतरी और पेट्रोल के दामों में यह लगातार तीसरी बढ़ोतरी है। इससे पहले 04 अप्रैल को पेट्रोल की कीमतों में 2.19 रुपये प्रति लीटर का इजाफा हुआ था। जबकि डीजल 98 पैसे महंगा हो गया था। उसके पहले 16 मार्च को पेट्रोल की कीमतों में 3 रुपये 7 पैसे और डीजल की कीमतों में 1 रुपये 90 पैसे का इजाफा हुआ था। 17 फरवरी को भी पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बदलाव किया गया था। तब पेट्रोल के दाम 32 पैसे प्रति लीटर कम किए गए थे, जबकि डीजल 28 पैसे प्रति लीटर महंगा हो गया था। लगातार बेतहासा कीमत बड़ने से आम आदमी को महंगाई की मार झेलनी पड़ेगी।

सरकारी तेल कंपनियां इंडियन ऑयल, भारत पेट्रोलियम और हिन्दुस्तान पेट्रोलियम हर महीने 1 और 15 तारीख को कीमतों की समीक्षा करती हैं। यह समीक्षा कच्चे तेल की वैश्विक कीमतों और फॉरेन एक्सचेंज रेट से प्रभावित होती है। शुक्रवार को ही दुनियाभर में तेल की कीमतों में बढ़ोतरी देखी गई है।

Tags:    
Share it
Top