Top
Begin typing your search...

'मार्च तक 10 करोड़ किसानों के खातों में आएंगे 2000 रुपए, राज्यों से मांगी गई सूची'

शेखावत ने बताया कि सरकार ने राज्यों से पात्र किसानों की सूची मांगी है।

मार्च तक 10 करोड़ किसानों के खातों में आएंगे 2000 रुपए, राज्यों से मांगी गई सूची
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मोदी सरकार मार्च के अंत तक लगभग 10 करोड़ किसानों को 2,000-2000 रुपये का भुगतान करेगी। कृषि राज्य मंत्री गजेंद्र शेखावत ने ईटी को यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि कम जमीन वाले किसानों के लिए प्रधानमंत्री-किसान योजना के तहत इसके बाद के भुगतान करने में भी सरकार को कोई मुश्किल नहीं होगी।

उन्होंने कहा कि पहला भुगतान करने की प्रक्रिया में कुछ मुश्किल हो सकती है। शेखावत ने बताया, 'दूसरी किस्त का भुगतान आसान होगा क्योंकि सभी लाभार्थियों के बैंक खाते उनके आधार से लिंक हो जाएंगे।'

शेखावत ने बताया कि सरकार ने राज्यों से पात्र किसानों की सूची मांगी है। हालांकि, केंद्र के पास पहले से काफी डेटा है। इस योजना की घोषणा शुक्रवार को अंतरिम बजट में की गई थी।

शेखावत ने कहा, 'हमारे पास अधिकतर किसानों का डेटाबेस है क्योंकि वे पहले से हमारी विभिन्न सब्सिडी स्कीमों का लाभ ले रहे हैं। मुझे नहीं लगता कि कोई भी राज्य इस योजना में पीछे रहना चाहेगा।'

आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने कहा कि कृषि मंत्रालय इस योजना को लागू करने में कोई कसर नहीं छोड़ेगा। गर्ग ने बजट के बाद ईटी को दिए इंटरव्यू में कहा, 'मंत्रालय इसे जितना तेजी से संभव हो, लागू करेगा। मूलभूत मापदंड तैयार है। दो हेक्टेयर तक जमीन रखने वाले छोटे और मझोले किसानों की पहचान करने की जरूरत है।'

वहीं विशेषज्ञों और पूर्व ब्यूरोक्रेट्स का कहना है कि इस स्कीम को लागू करने में परेशानी हो सकती है, विशेषतौर पर बिहार और उत्तर प्रदेश जैसे बड़े राज्यों में मुश्किल हो सकती है जहां जमीन के रेकॉर्ड पूरी तरह डिजिटाइज नहीं हैं। लोकसभा चुनाव में कुछ महीने बाकी होने के कारण इस योजना को तेजी से लागू करने की कोशिश की जाएगी।


Special Coverage News
Next Story
Share it