Breaking News
Home > व्यवसाय > चुनावों से पहले केंद्रीय कर्मचारियों की इतनी सैलरी बढ़ाएगी मोदी सरकार!

चुनावों से पहले केंद्रीय कर्मचारियों की इतनी सैलरी बढ़ाएगी मोदी सरकार!

सूत्रों का दावा है कि 2019 के चुनाव तारीखों का ऐलान होने से पहले ही सरकार कर्मचारियों के लिए ऐलान कर सकती है।

 Special Coverage News |  7 Feb 2019 10:47 AM GMT  |  दिल्ली

चुनावों से पहले केंद्रीय कर्मचारियों की इतनी सैलरी बढ़ाएगी मोदी सरकार!

नई दिल्ली : चुनावी साल में कोई भी पार्टी वोटरों को लुभाने का कोई मौका नहीं छोड़ना चाहती है। ऐसे में मोदी सरकार भी पीछे नहीं है। खबर आ रही है कि मोदी सरकार लोकसभा चुनाव से पहले केंद्रीय कर्मचारियों को बड़ी सौगात दे सकती है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, केंद्र की मोदी सरकार केंद्रीय कर्मचारियों के न्यूनतम वेतन में बड़ी बढ़ोतरी कर सकती है। सरकार इसका ऐलान फरवरी में ही सकती है।

सूत्रों की मानें तो केंद्रीय कर्मचारियों का न्यूनतम वेतन 26000 रुपए किया जा सकता है। फिलहाल इन कर्मचारियों को 18000 रुपए मिल रही है। हाल ही में नेशनल ज्वाइंट काउंसिल ऑफ एक्शन (NJCA) के चीफ शिव गोपाल मिश्रा ने कहा था कि नरेंद्र मोदी सरकार केंद्रीय कर्मचारियों के न्यूनतम वेतन को लेकर काफी गंभीर है और इसे बढ़ाने पर विचार चल रहा है। अब चर्चा है कि जल्द ही कर्मचारियों की सैलरी को बढ़ाया जा सकता है। केंद्रीय कर्मचारियों को सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों के मुताबिक 18000 रुपए मिल रहे हैं, लेकिन उनकी लंबे समय से मांग है कि न्यूनतम वेतन को 18000 रुपए से बढ़ाकर 26000 रुपए किया जाए। इसके अलावा फिटमेंट फैक्टर को भी 2.57 गुना से बढ़ाकर 3.68 गुना किया जाए।

सरकार को केंद्रीय कर्मचारियों की मांग मानने में कोई आपत्ति नहीं है, लेकिन इसका सीधा असर महंगाई पर पड़ेगा। सरकार को डर है कि केंद्रीय कर्मचारियों का वेतन बढ़ाने से मुद्रास्फीति की दर का प्रभाव दूसरों पर पड़ेगा। हालांकि मई में होने वाले चुनाव के मद्देनजर, सरकार कोई जोखिम नहीं लेना चाहती। यही वजह है कि केंद्रीय कर्मचारियों की नाराजगी को भी सरकार अनदेखा नहीं कर रही है। केंद्रीय कर्मचारियों की बड़ी संख्या है, जिसका सीधा असर चुनाव परिणामों पर दिख सकता है।

चुनाव की तारीख से पहले ऐलान संभव

सूत्रों का दावा है कि 2019 के चुनाव तारीखों का ऐलान होने से पहले ही सरकार कर्मचारियों के लिए ऐलान कर सकती है। ऐसे में सरकार के पास सिर्फ फरवरी का वक्त है, क्योंकि मार्च के पहले हफ्ते में चुनाव तारीखों की घोषणा हो सकती है।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story

नवीनतम

Share it
Top