Top
Begin typing your search...

रिलायंस जियो यूजर्स को झटका, अब महंगे होंगे टैरिफ प्लान्स, यह है वजह?

इससे पहले एयरटेल और वोडाफोन-आइडिया भी अपने प्लान महंगे करने से जुड़ा अनाउंसमेंट कर चुके हैं।

रिलायंस जियो यूजर्स को झटका, अब महंगे होंगे टैरिफ प्लान्स, यह है वजह?
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

टेलिकॉम ऑपरेटर रिलायंस जियो की ओर से ऑफिशली अनाउंस किया गया है कि अगले कुछ सप्ताह में कंपनी यूजर्स के लिए टैरिफ प्लान महंगे करने वाली है। टेलिकॉम मार्केट में लगातार हो रहे नुकसान की वजह से जियो ने बीते दिनों बाकी नेटवर्क्स पर कॉलिंग के लिए अलग से आईयूसी वाउचर इंट्रोड्यूस किए हैं और अब कंपनी टैरिफ महंगे करने जा रही है। इससे पहले एयरटेल और वोडाफोन-आइडिया भी अपने प्लान महंगे करने से जुड़ा अनाउंसमेंट कर चुके हैं।

रिलायंस जियो का सब्सक्राइबर बेस बेशक बड़ा हो लेकिन कंपनी को लगातार नुकसान हो रहा है। मार्केट में परफॉर्मेंस दर्शाने वाले एवरेज रेवन्यू पर कस्टमर (ARPU) के मामले में जियो वोडाफोन आइडिया और भारती एयरटेल से भी पीछे है। सितंबर तिमाही में भी जियो का एवरेज रेवन्य प्रति कस्टमर 3 प्रतिशत घटकर 118 रुपये हो गया था। मार्केट में स्थिति बेहतर करने के लिए जियो ने भी एयरटेल और वोडाफोन आइडिया की घोषणा के बाद अपने टैरिफ प्लान महंगे करने की घोषणा कर दी है।

टेलिकॉम मार्केट में अस्थिरता

जियो ने इससे पहले कहा था कि जियो नेटवर्क पर आउटगोइंग और इनकमिंग कॉल का अनुपात दूसरों के मुकाबले काफी अधिक है। अप्रैल 2017 में जब आईयूसी को लागू किया गया था तो जियो के पास 90% आउटगोइंग कॉल थी और इनकमिंग कॉल की संख्या केवल 10% थी। यही कारण है कि ट्राई BAK लागू करने के लिए 31 दिसंबर 2019 की डेडलाइन तय करना पड़ी। ऐसे में कंपनियों के लिए आईयूसी चार्ज मार्केट में स्टेबलिटी नहीं ला सका है और टैरिफ महंगा करना जरूरी हो चुका है।

यूजर्स के लिए अलग IUC पैक

बता दें, इंटनकनेक्शन यूजेस चार्जेस (आईयूसी) पर टेलिकॉम मॉर्केट में छिड़े घमासान के बीच भारती एयरटेल ने टेलिकॉम रेग्युलेटर से आईयूसी खत्म करने की अवधि बढ़ाने को कहा था। पहले इसकी डेडलाइन 2020 थी और जनवरी, 2020 से इसे पूरी तरह खत्म किया जाना था। जियो इस चार्ज को खत्म करना चाहता था और ऐसा न होने के चलते यूजर्स को अब सीधे आईयूसी मिनट्स के लिए रीचार्ज करवाना पड़ रहा है।

Special Coverage News
Next Story
Share it