Top
Home > व्यवसाय > बजट 2020: नीति आयोग में PM मोदी की अहम बैठक आज, इस मुद्दे पर हो सकती है चर्चा

बजट 2020: नीति आयोग में PM मोदी की अहम बैठक आज, इस मुद्दे पर हो सकती है चर्चा

 Sujeet Kumar Gupta |  9 Jan 2020 4:06 AM GMT  |  नई दिल्ली

बजट 2020: नीति आयोग में PM मोदी की अहम बैठक आज, इस मुद्दे पर हो सकती है चर्चा
x

नई दिल्ली। नीति आयोग में पीएम नरेंद्र मोदी की अहम बैठक आज (गुरुवार) होने वाली है. बैठक में नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार, मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमिताभ कांत और अन्य सीनियर अधिकारी भाग लेंगे. देश की अर्थव्यवस्था और आगामी बजट को देखते हुए यह बैठक काफी महत्वपूर्ण मानी जा रही है।

संसद का बजट सत्र 31 जनवरी को शुरू होकर तीन अप्रैल तक चलेगा. इस दौरान एक फरवरी को वित्त वर्ष 2020-21 का आम बजट पेश किया जाएगा. न्‍यूज एजेंसी पीटीआई सूत्रों के मुताबिक संसदीय मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ने संसद का बजट सत्र 31 जनवरी से तीन अप्रैल तक दो चरणों में रखने का सुझाव दिया है बजट सत्र का पहला चरण 31 जनवरी से 11 फरवरी तक और दूसरा चरण दो मार्च से तीन अप्रैल तक चलेगा. बजट सत्र के बीच में करीब एक महीने का अवकाश रखा जाता है.

इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने सोमवार को देश के शीर्ष 10 कारोबारियों से मुलाकात की थी और अर्थव्यवस्था में सुधार, रोजगार सृजन और विकास दर सहित अन्य विषयों पर चर्चा की थी। प्रधानमंत्री से मिलने वाले उद्योगपतियों में टाटा समूह के रतन टाटा, भारती एयरटेल के सुनील भारती मित्तल, अरबपति गौतम अडानी, महिंद्रा समूह के चेयरमैन आनंद महिंद्रा, खनन दिग्गज अनिल अग्रवाल सहित कई मौजूद रहे। इसके अलावा टाटा संस के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन, टीवीएस चेयरमैन वेणु श्रीनिवासन, एलएंडटी के एएम नाइक शामिल थे। प्रधानमंत्री ने कहा कि देश में कॉरपोरेट कर अपने अभी तक के निचले स्तर पर है और उद्योग के सामने मौजूद समस्याओं को दूर करने के लिए प्रतिबद्ध है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण एक फरवरी को अपना दूसरा आम बजट पेश करेंगी जिसमें देश की आर्थिक वृद्धि को फिर से पटरी पर लाने की बड़ी चुनौती होगी. चालू वित्त वर्ष की जुलाई-सितंबर तिमाही में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर घटकर 4.5 प्रतिशत पर आ गई है जो इसका छह साल का निचला स्तर है

बजट को लेकर मांगे हैं सुझाव

आम लोगों की बजट में भागीदारी बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से सुझाव मांगे हैं। यह सुझाव कोई भी व्यक्ति सरकार को माईजीओवी.इन पर दिए जा सकते हैं। गौरतलब है कि वित्त वर्ष 2020-21 के लिए बजट फरवरी को संसद में पेश किया जाएगा। मोदी ने कहा है कि लोगों द्वारा दिए गए ठोस सुझावों व विचारों को बजट में शामिल किया जाएगा।

ट्विटर पर की घोषणा

मोदी ने ट्वीट कर कहा, 'केंद्रीय बजट 130 करोड़ भारतीयों की आशा, आकांक्षाओं का प्रतिनिधित्व करता है और भारत को विकास की दिशा में आगे बढ़ता है। मैं आप सभी को इस वर्ष के बजट के लिए अपने विचारों और सुझावों को साझा करने के लिए आमंत्रित करता हूं।' संसद का बजट सत्र 31 जनवरी से शुरू होगा और एक फरवरी को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला पूर्ण बजट पेश करेंगी।

आर्थिक सुस्‍ती के दौर में बजट अहम

आर्थिक सुस्‍ती के दौर में सरकार का ये बजट काफी अहम माना जा रहा है. विश्लेषकों को उम्मीद है कि अर्थव्यवस्था में जारी नरमी को देखते हुए सरकार इस बजट में अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिये उपायों की घोषणा कर सकती है. बता दें कि सरकार ने सितंबर, 2019 में सुस्त पड़ती अर्थव्यवस्था को रफ्तार देने के लिए कॉरपोरेट टैक्‍स में कटौती समेत कुछ अन्य उपायों की घोषणा की थी. हालांकि इसके बावजूद आर्थिक सुस्‍ती बरकरार है।


Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it