Top
Begin typing your search...

बजट 2020 में वित्त मंत्री का बड़ा ऐलान, LIC और IDBI बेचेंगी

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का दूसरा बजट पेश कर रही है

बजट 2020 में वित्त मंत्री का बड़ा ऐलान, LIC और IDBI बेचेंगी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का दूसरा बजट पेश कर दिया है। वह संसद में अपना बजट भाषण पढ़ रहीं हैं. अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर चुनौतियों का सामना कर रही मोदी सरकार। वित्त वर्ष 2020-21 के बजट (Budget 2020) भाषण के दौरान शुरुआती झटके के बाद घरेलू शेयर बाजार संभल गये और सीमित दायरे में कारोबार कर रहे हैं। अभी सेंसेक्स 111 अंकों की गिरावट के साथ 40,612.02 और निफ्टी 112.55 पर कारोबार कर रहा है।

बीएसई का सेंसेक्स पिछले दिवस की तुलना में करीब 30 अंक की मजबूती के साथ 40,753.18 अंक पर खुला। हालांकि, बजट भाषण शुरू होती ही यह करीब 280 अंक गिरकर 40,444.48 अंक पर आ गया। बाद में इसने सुधार दर्ज की और गिरावट से उबरते हुए 44.31 अंक यानी 0.11 प्रतिशत की तेजी के साथ 40,767.80 अंक पर चल रहा था।

2019-20 बजट के बाद सरकार ने एनबीएफसी के लिए आंशिक ऋण गारंटी स्कीम तैयार की है। सरकार आईपीओ द्वारा एलआईसी और आईडीबीआई बैंक में अपनी शेयर पूंजी का हिस्सा बेचने का प्रस्ताव करती है। सरकार ने स्वीकारी आयोग की सिफारिशें। सरकारी प्रतिभूतियों की कतिपय विनिदिष्ट श्रेणियां अनिवासियी निवेशकों के लिए भी खोली जाएंगी।

आईडीबीआई बैंक की शेष पूंजी स्टॉक एक्सचेंज के माध्यम से बेचे जाने का प्रस्ताव। अर्थव्यवस्था के पहिए को चलायमान रखने रके लिए एमएसएमआई अत्यंत महत्वपूर्ण। एमएसएमआई उद्यमियों के लिए अधीनस्थ ऋण प्रदान करने के लिए स्कीम का प्रस्ताव ।

एप आधारित बीजक वित्तपोषण ऋण उत्पाद शुरू किया जाएगा। सिडबी बैंक के साथ एक्जिम बैंक द्वारा 1000 करोड़ की स्कीम प्रारंभ की जाएगी। सरकारी प्रतिभूतियों की कतिपय विनिर्दिष्ट श्रेणियां अनिवासी निवेशकों के लिए भी खोली जाएंगी कारक विनिमय अधिनियम में संशोधन का प्रस्ताव बैंक की इंश्योर्ड राशि 1 लाख से बढ़ाकर 5 लाख की। यानी अगर बैंक डूबता है तो आपकी 5 लाख रुपये तक की जमा रकम सरकार वापस करेगी। यह राशि पहले एक लाख थी। जिसे बढा़कर अब पांच लाख कर दिया है।

Sujeet Kumar Gupta
Next Story
Share it