Top
Begin typing your search...

मुकेश अंबानी बने दुनिया के चौथे सबसे रईस, 80 बिलियन डॉलर हुई संपत्ति

वहीं, रिलायंस इंडस्ट्रीज के मार्केट कैप में भी लगातार इजाफा हो रहा है.

मुकेश अंबानी बने दुनिया के चौथे सबसे रईस, 80 बिलियन डॉलर हुई संपत्ति
X
File photo of Mukesh Ambani
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मार्केट कैप के लिहाज से देश की सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज और इसके चेयरमैन मुकेश अंबानी के लिए लगातार अच्छी खबरें आ रही हैं. बीते दिनों रिलायंस इंडस्ट्रीज को दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा ब्रांड करार दिया गया तो वहीं अब मुकेश अंबानी चौथे सबसे रईस शख्स बन गए हैं.

80.6 अरब डॉलर की संपत्ति

ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स की रियल टाइम नेटवर्थ के मुताबिक मुकेश अंबानी 80.6 अरब डॉलर (करीब 6.03 लाख करोड़ रुपये) की संपत्ति के साथ चौथे पायदान पर हैं. संपत्ति के मामले में मुकेश अंबानी अब फेसबुक के फाउंडर मार्क जुकरबर्ग (102 अरब डॉलर) के करीब आ गए हैं. हालांकि, दोनों की संपत्ति में अब भी काफी अंतर है.

मुकेश अंबानी से आगे कौन-कौन

मुकेश अंबानी से आगे फेसबुक के फाउंडर मार्क जकरबर्ग हैं. मार्क अभी तीसरे सबसे अमीर शख्स हैं. वहीं, माइक्रोसॉफ्ट के को-फाउंडर रहे बिल गेट्स दूसरे स्थान पर जबकि अमेजन के सीईओ जेफ बेजोस पहले स्थान पर हैं. ताजा रैंकिंग में मुकेश अंबानी ने एलवीएमएच के बर्नार्ड अर्नोल्ट एंड फैमिली को पछाड़ा है. बर्नार्ड अर्नोल्ट की रैंकिंग 5वीं है जबकि बर्कशायर हैथवे के वारेन बफे छठे स्थान पर हैं.

आपको बता दें कि ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स अरबपतियों की रियल टाइम संपत्ति का आंकलन करता है. ये आंकड़े स्थाई नहीं होते हैं, दुनियाभर में शेयर बाजार के उतार-चढ़ाव की वजह से बदलाव होता रहता है.

लगातार मिल रही सफलता

मुकेश अंबानी की दौलत में बढ़ोतरी की कई वजह हैं. रिलायंस जियो में वैश्विक स्तर पर लगातार निवेश मिल रहा है. वहीं, रिलायंस इंडस्ट्रीज के मार्केट कैप में भी लगातार इजाफा हो रहा है. कंपनी का शेयर भाव 2100 रुपये से ज्यादा है तो वहीं मार्केट कैप भी 14 लाख करोड़ को पार कर चुका है. यह पहली भारतीय कंपनी है जिसने इस मुकाम को हासिल किया है. आपको यहां बता दें कि रिलायंस इंडस्ट्रीज पहले ही कर्जमुक्त भी हो चुकी है.

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it