Top
Home > व्यवसाय > लंदन की सड़कों पर घूमता दिखा PNB स्कैम का भगोड़ा नीरव मोदी, भारत वापसी पर कहा- नो कमेंट

लंदन की सड़कों पर घूमता दिखा PNB स्कैम का भगोड़ा नीरव मोदी, भारत वापसी पर कहा- 'नो कमेंट'

इस दौरान संवाददाता ने कई बार नीरव मोदी से सवाल पूछने की कोशिश की लेकिन 'सॉरी नो कमेंट्स' कहकर वह सवालों को टालता रहा.

 Special Coverage News |  9 March 2019 4:19 AM GMT  |  दिल्ली

लंदन की सड़कों पर घूमता दिखा PNB स्कैम का भगोड़ा नीरव मोदी, भारत वापसी पर कहा- नो कमेंट
x
नीरव मोदी (फोटो- द टेलीग्राफ, वीडियो ग्रैब)

लंदन: पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) को करोड़ों का चूना लगाकर भारत से फरार नीरव मोदी लंदन में बेखौफ रह रहा है. 'द टेलीग्राफ' के एक संवाददाता ने लंदन की सड़कों पर नीरव मोदी को देखा. जब उससे घोटालों से जुड़े सवाल पूछे गए तो उसने जवाब नहीं दिये. इस दौरान संवाददाता ने कई बार नीरव मोदी से सवाल पूछने की कोशिश की लेकिन 'सॉरी नो कमेंट्स' कहकर वह सवालों को टालता रहा.

नीरव मोदी बदले हुए लुक में नजर आया. वह पकी हुई दाढ़ी और मूंछों में दिखा. आमतौर पर उसकी तस्वीर क्लीन शेव में आती रही है. भगोड़ा नीरव मोदी और उसका मामा मेहुल चोकसी करीब 14,000 करोड़ रुपये के पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) धोखाधड़ी मामले में आरोपी हैं.

,

संवाददाता ने सवाल पूछा - क्या आपने राजनैतिक संरक्षण मांगा है, क्या आप इसकी पुष्टि करेंगे?

नीरव मोदी- सॉरी, नो कमेंट.

सवाल- आप बहुत पैसे वाले हैं.

नीरव मोदी- सॉरी, नो कमेंट.

सवाल- आप बताना चाहेंगे कि आप कहां पर हैं.

नीरव मोदी- सॉरी, नो कमेंट.

सवाल- आप कितने समय तक इंग्लैंड में रहेंगे. सरकार के लोगों ने बताया कि आपने राजनैतिक संरक्षण मांगा है. अधिकारियों ने बताया कि आपको लेकर प्रत्यर्पण का आवेदन किया गया है.

नीरव मोदी- सॉरी, नो कमेंट.

सवाल- आप कितने समय तक इंग्लैंड में रहेंगे. क्या आप अपने दोस्त के बारे में बता सकते हैं.

नीरव मोदी- नो कमेंट.

सवाल- क्या आप अभी भी हीरे का व्यापार कर रहे हैं, हमें पता चला है कि आप @ के नाम पर व्यापार कर रहे हैं...क्या ये सही है.

नीरव मोदी- नो कमेंट.

13,700 करोड़ के घोटाले का आरोपी है नीरव मोदी

नीरव मोदी करीब 13,700 करोड़ रुपए के पीएनबी घोटाले का मुख्य आरोपी है. घोटाला उजागर होने के बाद नीरव मोदी के कई ठिकानों पर छापे पड़े और उसकी संपत्ति सीज की गई थी. फिलहाल वह लंदन में है. भारत की ओर से उसके प्रत्यर्पण के लिए कई बार प्रयास किए गए हैं. करीब तीन महीने पहले सरकार ने ब्रिटेन सरकार को उसके खिलाफ कार्रवाई करने के लिए भी लिखा था, लेकिन अभी तक उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it