Top
Begin typing your search...

कोरोना से जारी जंग के बीच क्या आपको AC और कूलर का इस्तेमाल करना चाहिए? पढ़ें सरकार की एडवाइजरी

कोरोना से जारी जंग के बीच क्या आपको AC और कूलर का इस्तेमाल करना चाहिए? पढ़ें सरकार की एडवाइजरी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

आमतौर पर मार्च-अप्रैल का महीना आते ही देश के अधिकांश हिस्सों में पारा चढ़ने लगता है और लोग गर्मी से निजात पाने कि लिए एसी और कूलर चलाना शुरू कर देते हैं. लेकिन इस बार कोरोना वायरस जैसी महामारी की वजह से लोग एसी और कूलर चलाने से बच रहे हैं.

अब बढ़ती गर्मी और कई जगह पारा 40 डिग्री तक पहुंच जाने के बाद सरकार ने एसी और कूलर चलाने को लेकर एडवाइजरी जारी की है जिसमें बताया गया है कि आम लोग किस तरीके से कूलर और एसी का इस्तेमाल कर सकते हैं.

केंद्र सरकार ने एडवाइजरी जारी कर कहा है कि लोग 24 से 30 डिग्री तापमान पर ही एसी चलाएं. घरों में एसी के इस्तेमाल के दौरान नमी को 40 से 70 फीसदी के बीच बनाए रखने का सुझाव दिया है.

कोरोना महामारी के दौरान सरकार ने लोगों को कमरे के एयर कंडीशनर्स की ठंडी हवा के आवागमन और खिड़की-दरवाजों के जरिए बाहरी खुली हवा के आने-जाने की व्यवस्था करने की सलाह दी है.

भारत सरकार की तरफ से यह एडवाइजरी सभी सरकारी कार्यालयों और कंपनियों को भी भेजी गई है. एडवाइजरी पैनल ने सुझाव दिया है कि एसी नहीं चलने पर भी कमरों को हवादार रखा जाना चाहिए.

वहीं रेगिस्तानी इलाकों में कूलरों के इस्तेमाल को लेकर सलाह दी गई है कि डेजर्ट कूलर में एयर फिल्टर नहीं होते हैं. ऐसे में उनमें एयर फिल्टर बाहर से लगवाएं ताकि धूल के प्रवेश को रोकने और हवा की स्वच्छता बनाए रखने में मदद मिल सके. कूलर टैंक को साफ और कीटाणु रहित रखने और पानी को बार-बार बदलने की भी सलाह दी गई है.

वहीं पंखे के इस्तेमाल को लेकर सरकार ने सुझाव दिया है कि बिजली के पंखे का उपयोग करते समय खिड़कियों को आंशिक रूप से खुला रखा जाना चाहिए. इतना ही नहीं आगे एडवाइजरी में कहा गया है कि हवा के अंदर-बाहर जाने के लिए कमरे में वेंटिलेशन की भी उचित व्यवस्था होनी चाहिए.

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it