Top
Home > व्यवसाय > आज से ATM से 2,000 रुपये का नोट मिलना बंद? बदल गए हैं बैंक के ये 5 नियम

आज से ATM से 2,000 रुपये का नोट मिलना बंद? बदल गए हैं बैंक के ये 5 नियम

ये फैसला सिर्फ इंडियन बैंक ने ही लिया है। किसी अन्य बैंक ने इस तरह का कोई फैसला नहीं लिया है। यानी सिर्फ इंडियन बैंक के एटीएम से आपको 2000 रुपए के नोट नहीं मिलेंगे। इसके अलावा किसी अन्य सरकारी या प्राइवेट बैंक ने ऐसा कोई फैसला नहीं लिया है।

 Sujeet Kumar Gupta |  1 March 2020 12:28 PM GMT  |  नई दिल्ली

आज से ATM से 2,000 रुपये का नोट मिलना बंद? बदल गए हैं बैंक के ये 5 नियम

नई दिल्ली। नोटबंदी के बाद अस्तित्व में आए 2000 रु. के नोट आज से यानि एक मार्च से एटीएम से निकलना बंद हो गया हैं। इंडियन बैंक ने बड़ा फैसला लेते हुए कहा है कि इंडियन बैंक (Indian Bank) के ATM में 2,000 रुपए के नोट नहीं डाले जाएंगे। एटीएम में 2000 के नोट रखने वाले कैसेट्स को डिसएबल कर दिया गया है। बैंक की ओर से सभी ब्रांच में ये जानकारी भेज दी गई है। बैंक ने कहा है कि उन्होंने अपने ग्राहकों की सुविधा को देखते हुए ये फैसला लिया है।

हालांकि भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने कहा कि 2000 रु. के नोट वैधता में बने रहेंगे। हालांकि वित्त मंत्रालय की ओर से इस बारे में कोई निर्देश नहीं है। बैंकों ने खुद ही अपने एटीएम में छोटे नोट डालना शुरू कर दिया है, जिससे ग्राहकों को सुविधा हो।

आपको बता दें कि ये फैसला सिर्फ इंडियन बैंक ने ही लिया है। किसी अन्य बैंक ने इस तरह का कोई फैसला नहीं लिया है। यानी सिर्फ इंडियन बैंक के एटीएम से आपको 2000 रुपए के नोट नहीं मिलेंगे। इसके अलावा किसी अन्य सरकारी या प्राइवेट बैंक ने ऐसा कोई फैसला नहीं लिया है। फाइनेंशियल सॉफ्टवेयर एंड सिस्टम्स के प्रेसिडेंट वी बालासुब्रमण्यन ने कहा कि उन्हें निजी बैंकों की ओर से 2,000 के नोट की लोडिंग बंद करने का कोई निर्देश नहीं है। गौरतलब है कि यह कंपनी देश में कई बैंकों के एटीएम नेटवर्क को मैनेज करती है।

इंडियन बैंक के मुताबिक जिन ग्राहकों को 2000 रुपए का नोट चाहिए, वे शाखाओं में जाकर इनकी निकासी कर सकते हैं। बैंक अब 2000 के नोट के बदले एटीएम में 200 के नोट डालेगा। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) ने छोटे शहरों और कस्बों में मौजूद एटीएम में से 2000 रुपए के नोट रखने के स्लॉट (कैसेट) हटाए जा रहे हैं। इसकी जगह बैंक 100 रुपए, 200 रुपए और 500 रुपए के स्लॉट बढ़ा रहे हैं।

सूत्रों की माने तो आरबीआई की तरफ से ही बैंकों से 2000 के नोट वापस बुलाए जा रहे हैं। नोटबंदी के समय तत्काल में मुद्रा की आपूर्ति जरूरी थी, इसलिए 2000 के नोट व्यापक पैमान पर छापे गए। अब बाजार में 500 के नोट पर्याप्त मात्रा में चलन में है, इसलिए धीरे-धीरे 2000 के नोट बाजार से कम किए जा रहे है।

आरबीआई ने पिछले साल सूचना के अधिकार (आरटीआई) के तहत मांगी गई जानकारी के जवाब में कहा था कि केंद्रीय बैंक ने 2,000 के नोट की छपाई बंद कर दी है। आरबीआई ने वित्त वर्ष 2018-19 में एक भी 2,000 रुपए का नोट नहीं छापा है। आरबीआई ने आरटीआई का जवाब देते हुए कहा कि 2016-17 के वित्त वर्ष के दौरान 2,000 रुपए के 3,542.991 मिलियन नोट छापे गए थे। अगले साल यह 111.507 मिलियन नोट तक कम हो गया। 2018-19 में बैंक ने 46.690 मिलियन नोट छापे।

बदल गए हैं बैंक के ये 5 नियम

1. HDFC बैंक का पुराना ऐप बंद हो चुका है। अगर आपके पास HDFC बैंक का पुराना एप है तो अब यह काम नहीं करेगा। ऐसे में जल्दी से नया एप डाउनलोड कर लें। HDFC बैंक का दावा है कि ये नया ऐप पहले से काफी सिक्‍योर और फीचर्स से लैस है।

2. इंडियन बैंक ने अपनी एटीएम मशीन से 2 हजार रुपये के नोट ट्रे हटा ली है। पहले ही बैंक ने बताया था कि 1 मार्च से ATM मशीन में 2,000 रुपये नोट रखने वाले ट्रे को हटा दिया जाएगा। यह बैंक 2 हजार रुपये के बजाए मशीन में 200 रुपये के नोटों की संख्‍या बढ़ाएगा।

3. आज से एसबीआई के उन खाताधारकों की मुश्किलें बढ़ने वाली हैं, जिन्‍होंने अपनी केवाईसी पूरी नहीं की है। बैंक के अलर्ट के मुताबिक ऐसे ग्राहक अब पैसे नहीं निकाल पाएंगे।

4. एक मार्च से लॉटरी पर 28 फीसदी की दर से माल एवं सेवा कर (GST) लगेगा। जीएसटी परिषद ने पिछले साल दिसंबर में राज्य सरकारों द्वारा चलाये जा रहे और मान्यता प्राप्त लॉटरी पर 28 फीसदी की एक समान दर से जीएसटी लगाने का फैसला लिया था।

5. अब भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण से फास्टैग को आप फ्री में नहीं ले सकेंगे। दरअसल, भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ने 29 फरवरी तक फास्टैग फ्री में देने का फैसला किया था। इसकी डेडलाइन खत्‍म हो गई है।


Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it