Home > Archived > क्या युवती पर हुआ था एसिड से हमला , थाने में दो अलग-अलग मामले दर्ज

क्या युवती पर हुआ था एसिड से हमला , थाने में दो अलग-अलग मामले दर्ज

आशंका है कि प्रतिशोध की भावना से दफ्तर जलाने गई युवती खुद आग की चपेट में आई

 शिव कुमार मिश्र |  12 Jun 2018 4:10 AM GMT  |  बालेश्वर

क्या युवती पर हुआ था एसिड से हमला , थाने में दो अलग-अलग मामले दर्ज

बालेश्वर (गोविंद राठी) - रविवार सुबह शहर के शोभारामपुर अंचल में एक युवती के ऊपर एसिड से हमले की घटना पूरी चर्चा में है। चर्चा में थी की स्थानीय शोभरमपुर रेल गेट के पास दो युवक एक बीना नंबर कि मोटरसाइकिल में अपने चेहरे पर काले कपडे बांधे हुए आकर इस युवती पर एसिड से हमला कर वहां से भाग निकले थे। इस घटना के बारे में लड़की के घरवालों की तरफ से सहदेवखुन्टा थाना में एक केस भी दर्ज करवाया गया है।


उधर जैसे जैसे पुलिस इस घटना की जांच में आगे बढ़ रही है यह घटना नयी करवट लेते दिख रही है। सुचना अनुसार शहर के गोपालगांव अंचल के लिपि उर्फ मधुस्मिता महापात्र के चेहरे एवं शरीर के कुछ हिस्से झुलस जाने के कारण उनको पहले बालेश्वर स्थित सरकारी अस्पताल एवं बाद में कटक स्थित एससीबी मेडिकल कॉलेज में स्थानांतरण किया गया है। पुलिस की प्राथमिक जांच में मालूम पड़ा है कि युवती ने चिकित्सा कर रहे हैं डॉक्टर से कहा था कि दरवाजा खोलते समय आग के आ जाने के कारण उसके चेहरे एवं शरीर के कुछ हिस्से जल गए है।


उधर युवती के साथ बाजार जा रही एक दूसरी महिला हरप्रिया मंडल ने पुलिस के सामने दिए बयान में कहीं पर भी एसिड से हुए हमले का जिक्र नहीं किया है। इसके अलावा हरप्रिया ने पुलिस के सामने कहा है कि शोभारामपुर से मांस खरीदने के बाद मधुस्मिता ने उसे उसके साथ सहदेवखुन्टा स्थीत डेस्टिमनी नामक एक इंशुरेंस कंपनी के दफ्तर के पास ले गई थी एवं हरप्रिया से नीचे खड़े रहने को कहा था एवं वहां से वह दफ्तर के ऊपर कार्यालय में चली गई। थोड़ी ही देर में ऊपर से मधुस्मिता के चीखने की आवाज सुनने के बाद हरिप्रिया ऊपर जाकर मधुस्मिता के चेहरे एवं शरीर के कुछ हिस्सों को जला देख उसे तुरन्त अस्पताल ले कर चली गई थी।


उधर डेस्टीमनी कंपनी में काम कर रहे हैं एक कर्मचारी हरेकृष्ण जेना ने भी सहदेवखुन्टा थाना में एक केस दर्ज कराया है। कंपनी के कर्मचारी द्वारा दर्ज कराए गए केस में उल्लेख किया गया है कि दो से तीन युवती एक स्कूटी में आकर कंपनी के कार्यालय में पेट्रोल डालकर आग लगाने की कोशिश की थी। उल्लेखनीय है कि सदैव कुंडा थाना के अधिकारी जयंता बेहरा जो कि खुद इस केस की जांच में लगे हुए हैं उन्होंने आधे में दिए गए बयान में कहा कि अभी तक पुलिस को उस जगह का पता नहीं चल पाया है जहां पर ऐसीड से हमले का जिक्र किया गया है।


इस घटना में थाने में दो शिकायत दर्ज एवं पीड़िता के साथ मौजूद लड़की के बयान एवं अभी तक पुलिस को उस जगह की पहचान नहीं होने की बातों ने एक उलझी हुई पहली की तरह मामले को उलझा दिया है। उधर पुलिस ने पीड़िता के ठीक होने के बाद ही घटना के ऊपर से पर्दा उठने की बात स्वीकारी है।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top