Top
Begin typing your search...

BJP उम्मीदवार सुनील ने किया केजरीवाल को इस तरह हराने का दावा, तो अखिलेश ने की नये सीएम को लेकर भविष्यवाणी

8 फरवरी को विधानसभा चुनाव के लिए मतदान होना है

BJP उम्मीदवार सुनील ने किया केजरीवाल को इस तरह हराने का दावा, तो अखिलेश ने की नये सीएम को लेकर भविष्यवाणी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

दिल्ली 2020 विधानसभा चुनावों में इस बार नई दिल्ली सीट पर सबकी नजर है. ये सीट दिल्ली की सबसे हॉट सीट है क्योंकि इस सीट से आम आदमी पार्टी(AAP) के संयोजक ओर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल खुद चुनाव लड़ रहे हैं. 15 साल तक दिल्ली की सत्ता पर राज करने वाली कांग्रेस की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित इस विधानसभा से चुनाव लड़ती रहीं.

नई दिल्ली सीट से ही शीला दीक्षित को जीत मिली और 3 बार दिल्ली का राजगद्दी संभाली. लेकिन 2013 के चुनावों में आम आदमी पार्टी के मुख्यमंत्री उम्मीदवार अरविंद केजरीवाल ने शीला दीक्षित को हराकर बड़ी जीत हासिल की. इस बार अरविंद केजरीवाल के सामने भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) ने जहां सुनील यादव को चुनावी मैदान में उतारा है, वहीं कांग्रेस ने रोमेश सभरवाल को अपना उम्मीदवार बनाया है।

अरविंद केजरीवाल के खिलाफ नई दिल्ली निर्वाचन क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के उम्मीदवार सुनील यादव अपनी जीत को लेकर आश्वस्त हैं और वह भी 25,000 वोटों से। केजरीवाल को हाई प्रोफाइल राजनेता बताते हुए यादव ने कहा कि केजरीवाल ने खुद को 'आम आदमी' कहकर निवार्चन क्षेत्र को बेवकूफ बनाया है।

यादव ने कहा, "जब केजरीवाल यहां (नई दिल्ली) चुनाव लड़ने आए तो लोगों ने सोचा कि वह उनकी सुनेंगे। लेकिन, पांच साल बाद हम सुन रहे हैं कि वह एक हाई प्रोफाइल नेता हैं।" यादव ने आप नेता के खिलाफ चुनाव लड़ने में किसी भी तरह के भय से इनकार किया।

यादव ने कहा, "हम शीला दीक्षित को हराने के लिए उतरे थे। अब मैं केजरीवाल को हराने के लिए आया हूं।" भाजपा के घोषणापत्र में स्थानीय मुद्दों के नहीं होने व राष्ट्रीय मुद्दों पर ध्यान केंद्रित करने पर यादव ने कहा कि वह स्थानीय एजेंडे पर चुनाव लड़ रहे हैं।

यादव ने कहा, "मैं अपने निवार्चन क्षेत्र में झुग्गी झोपड़ी वाले इलाकों में रहने वाले लोगों के बारे में बात कर रहा हूं। मैं उनके पानी और बिजली के बिल के बारे में बात कर रहा हूं। नई दिल्ली को मुफ्त पानी और बिजली का लाभ नहीं मिला है। मैं उनके बारे में बात कर रहा हूं।"

यादव ने आगे कहा की दिल्ली के मुख्यमंत्री पर जीएसटी रिटर्न के राज्य के हिस्से के रूप में अर्जित धन का दुरुपयोग अपने विज्ञापनों के लिए करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, "केजरीवाल ने विज्ञापनों पर 850 करोड़ रुपये खर्च किए, जो कि राज्य का जीएसटी रिटर्न का हिस्सा है।"

वही गणतंत्र दिवस के मौके पर सैफई में 158 फुट ऊंचा तिरंगा फहराने के बाद अखिलेश यादव ने दिल्ली विधानसभा चुनाव परिणाम को लेकर भविष्यवाणी कर दी है और कहा कि कई राज्यों में मुंह की खा चुकी भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) दिल्ली के चुनाव में खाता भी नहीं खोल पाएगी और आम आदमी पार्टी (आप) के अरविंद केजरीवाल की एक बार फिर से मुख्यमंत्री के तौर पर ताजपोशी होगी।

अखिलेश यादव ने पत्रकारों से कहा कि भाजपा की उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है। कई राज्यों में भाजपा चारो खाने चित्त हो चुकी है और अब दिल्ली की बारी है जहां उसे शून्य सीट से संतोष करना पड़ेगा जबकि अरविंद केजरीवाल एक बार फिर से मुख्यमंत्री बनेंगे।

बतादें कि 'दिल्ली 70 सीटों वाली विधानसभा में केजरीवाल के समाने सबसे ज्यादा 28 उम्मीदवार हैं, जबकि सबसे कम 4 उम्मीदवार पटेल नगर सीट से चुनाव लड़ रहे हैं.' जहां पर 8 फरवरी को विधानसभा चुनाव के लिए मतदान होना है, जिसके नतीजे 11 फरवरी को आएंगे।


Sujeet Kumar Gupta
Next Story
Share it