Home > राज्य > दिल्ली > रोहित शेखर मर्डर केसः दिल्ली पुलिस ने पत्नी अपूर्वा को किया गिरफ्तार, ...तो इसलिए कर दी हत्या?

रोहित शेखर मर्डर केसः दिल्ली पुलिस ने पत्नी अपूर्वा को किया गिरफ्तार, ...तो इसलिए कर दी हत्या?

रोहित की पिछले साल अपूर्वा से शादी हुई थी। वह पेशे से वकील हैं और सुप्रीम कोर्ट में वकालत करती हैं।

 Special Coverage News |  24 April 2019 6:48 AM GMT  |  दिल्ली

रोहित शेखर मर्डर केसः दिल्ली पुलिस ने पत्नी अपूर्वा को किया गिरफ्तार, ...तो इसलिए कर दी हत्या?

नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रहे नारायण दत्त तिवारी के पुत्र रोहित शेखर की हत्या मामले में पत्नी अपूर्वा शुक्ला को दिल्ली क्राइम ब्रांच ने अरेस्ट कर लिया है। सूत्रों का कहना है कि अपूर्वा के खिलाफ पुख्ता सबूत मिलने के बाद पुलिस ने गिरफ्तारी की। बताया जा रहा है कि हत्या वाली रात रोहित और अपूर्वा में झगड़ा हुआ था। सबूत मिटाने के लिए अपूर्वा ने मोबाइल फॉर्मेट भी किया था। बता दें कि 16 अप्रैल को रोहित अपने बंगले के कमरे में मृत पाए गए थे। पुलिस ने हत्या की पुष्टि के बाद कई घंटे तक उनकी पत्नी से पूछताछ की थी।

दिल्ली क्राइम ब्रांच की पूछताछ में आखिर अपूर्वा ने सच उगल ही दिया। अपूर्वा के लगातार बदलते बयानों से पुलिस को उस पर पूरा शक गहरा गया था। रोहित शेखर की मौत के बाद जिस तरह के घटनाक्रम सामने आये उससे अपूर्वा को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई। उससे साफ हो गया कि हत्या वाली रात अपूर्वा और रोहित के बीच झगड़ा हुआ था।

झगड़े का कारण था कि उस रात रोहित अपनी एक महिला मित्र के साथ शराब पी रहा था और अपूर्वा ने उसे देख लिया था। उधर, अपूर्वा की अपने मायके वालों के लिए अलग से मकान बनाने को लेकर भी रोहित से अनबन चल रही थी। बताते हैं कि अपूर्वा और रोहित के बीच इस मामले को लेकर हत्या वाली रात हाथापाई हुई थी और उसी दौरान रोहित का गला दबाकर उसे मार दिया गया।

इस मामले में रोहित की पत्नी अपूर्वा के अलावा घर में मौजूद दो सहायकों के बयान भी पुलिस को संदिग्ध लगे थे। सीन रीकंस्ट्रक्शन के दौरान पुलिस ने पाया कि हॉलवे के दो सीसीटीवी कैमरे काम कर रहे थे। बाद में कैमरे खराब मिले। पुलिस अधिकारी ने बताया कि आधी रात के बाद अपूर्वा सीसीटीवी में फर्स्ट फ्लोर पर जाती दिखाई दी थीं, जबकि घरेलू सहायकों के मुताबिक वह रात 2:30 बजे तक ग्राउंड फ्लोर पर क्राइम सीरियल देख रही थीं।

रोहित की मौत 15-16 अप्रैल की रात हुई थी। पहले कहा गया कि हार्ट अटैक से मौत हुई, लेकिन पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से पता चला कि मौत गला दबाने से हुई। एम्स में 5 डॉक्टरों की टीम ने पोस्टमॉर्टम किया था। पुलिस के अनुसार, नौकर भोला और ड्राइवर से लम्बी पूछताछ की थी, लेकिन शुरू से शक रोहित की पत्नी पर था। नौकर से, रोहित की मां से स्पष्ट हो चुका था कि अपूर्वा और रोहित के बीच रिश्ते अच्छे नहीं थे। अक्सर दोनों में झगड़ा होता था। मामला हाई प्रोफाइल होने से लोकल पुलिस से हटाकर क्राइम ब्रांच को इसे सौंप दिया गया था। रोहित की पिछले साल अपूर्वा से शादी हुई थी। वह पेशे से वकील हैं और सुप्रीम कोर्ट में वकालत करती हैं।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक रोहित की मौत 15-16 अप्रैल की रात एक से डेढ़ बजे के दरम्यान हुई? अगर रोहित की मौत दो बजे से पहले हो चुकी थी तो फिर 16 अप्रैल की रात दो से 4 बजे के बीच रोहित के मोबाइल से फोन करने की कोशिश किसने की? क्योंकि कॉल डिटेल के मुताबिक रोहित के मोबाइल से कॉल करने की कोशिश की गई थी, हालांकि कॉल लगी नहीं।

रोहित रात करीब एक बजे अपने बेडरूम में चला गया था. मगर इसके बाद भी अगले दिन चार बजे तक नहीं उठा। यानी 24 घंटे से ज्यादा वो सोता रहा और घर के किसी शख्स को ये अजीब तक नहीं लगा? ऐसा क्यों? बस यही वो बातें हैं, जिसने मामले की जांच कर रही दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच को ये यकीन दिला दिया है कि रोहित शेखर तिवारी का कातिल घर के बाहर नहीं बल्कि घर के ही अंदर है, पर सवाल है कि कौन?

तो शक के सबसे ऊंचे पायदान पर फिलहाल कोई और नहीं बल्कि रोहित शेखर की अपनी पत्नी अपूर्वा ही थी। वही अपूर्वा है जिसकी शादी साल भर पहले ही रोहित से हुई और जो पेशे से वकील है. और ये वही अपूर्वा है, जो बकौल पुलिस रोहित के कमरे में उस रात जाने वाली आखिरी शख्स थी।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top