Top
Home > राज्य > दिल्ली > निर्भया केस: फांसी देने के लिए तिहाड़ जेल में नया फांसी घर बनकर तैयार,जानिए 4 जल्लादों की क्यों पड़ सकती जरूरत

निर्भया केस: फांसी देने के लिए तिहाड़ जेल में नया फांसी घर बनकर तैयार,जानिए 4 जल्लादों की क्यों पड़ सकती जरूरत

 Sujeet Kumar Gupta |  6 Jan 2020 6:35 AM GMT  |  नई दिल्ली

निर्भया केस: फांसी देने के लिए तिहाड़ जेल में नया फांसी घर बनकर तैयार,जानिए 4 जल्लादों की क्यों पड़ सकती जरूरत

नई दिल्ली। निर्भया के दोषियों को डेथ वारंट जारी करने को लेकर दिल्ली की पटियाला हाउस में सुनवाई 7 जनवरी को होनी है। जबकि इससे पहले दिल्ली में हुए निर्भया कांड के चार दोषियों में से एक अक्षय की पुनर्विचार याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुना दिया है।

तो निर्भया कांड के गुनहगारों को फांसी पर लटकाने के लिए तिहाड़-प्रशासन ने इसकी तैयारी पूरी कर ली है। चारों दोषियों को एक साथ फांसी पर लटकाने के लिए तिहाड़ जेल में करीब 25 लाख रुपए की लागत से एक नया फांसी घर तैयार किया गया है। तिहाड़-प्रशासन ने पहले ही स्पष्ट कर दिया था कि चारों दोषियों को एक साथ ही फांसी पर लटकाया जाएगा।

तिहाड़ जेल के महानिदेशक संदीप गोयल ने भी कहा कि एक साथ अब चारों दोषियों मुकेश, पवन, विनय और अक्षय को फांसी देने की व्यवस्था कर ली गई है। अदालत के आदेश के बाद जेल स्तर पर फांसी देने में किसी तरह की देरी नहीं होगी।

निर्भया के दोषियों को डेथ वारंट जारी करने को लेकर दिल्ली की पटियाला हाउस में सुनवाई 7 जनवरी तक के लिए टाल दी गई है। जबकि इससे पहले दिल्ली में हुए निर्भया कांड के चार दोषियों में से एक अक्षय की पुनर्विचार याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुना दिया है।

चारों दोषियों को एक साथ फांसी पर लटकाने के लिए 4 जल्लाद को बुलाना पड़ सकता है। क्योंकि फांसी घर का लीवर भी अलग-अलग होगा। फांसी घर इस तरह से तैयार किया गया है कि फांसी के दौरान जो भी अधिकारी वहां मौजूद रहेंगे एक साथ चारों को फांसी होते एक साथ देख सकते हैं।

बतादें कि दिल्ली में 16 दिसंबर 2012 की रात 23 वर्षीय पैरामेडिकल छात्रा के साथ चलती बस में गैंगरेप हुआ था छात्रा ने 29 दिसंबर 2012 को दम तोड़ दिया था। सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में दोषी मुकेश, पवन, विनय और अक्षय को फांसी की सजा सुनाई थी। एक अन्य दोषी रामसिंह ने तिहाड़ जेल में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी।


Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it