Top
Begin typing your search...

नवाजुद्दीन की पत्नी का ट्विटर पर डेब्यू, कहा- पैसे से सच नहीं खरीद सकते

नवाजुद्दीन की पत्नी का ट्विटर पर डेब्यू, कहा- पैसे से सच नहीं खरीद सकते
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नवाजुद्दीन सिद्दीकी की पत्नी आलिया सिद्दीकी ने नवाज को न सिर्फ तलाक का कानूनी नोटिस भेजा है बल्कि उनसे गुजारे भत्ते की भी मांग की है?

लॉकडाउन के दौरान एक तरफ जहां लोग कामकाज छोड़कर अपने परिवारों के ज्यादा करीब आ गए हैं वहीं दूसरी तरफ बॉलीवुड एक्टर नवाजुद्दीन सिद्दीकी के परिवार की ईंटें कमजोर पड़ती नजर आ रही हैं. नवाजुद्दीन सिद्दीकी की पत्नी आलिया सिद्दीकी ने नवाज को न सिर्फ तलाक का कानूनी नोटिस भेजा है बल्कि उनसे गुजारे भत्ते की भी मांग की है. ऐसे में नवाजुद्दीन जाहिर है कि भावनात्मक तौर पर असंतुलित और टूटा हुआ महसूस कर रहे होंगे.

इसी बीच अपनी आवाज को सोशल मीडिया पर बुलंद करते हुए नवाजुद्दीन सिद्दीकी की पत्नी आलिया सिद्दीकी ने माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर एंट्री कर ली है. आलिया का ये अकाउंट हालांकि अभी वैरिफाइड नहीं है लेकिन उन्होंने अभी से अपने दिल की बात इस ग्लोबल पोर्टल पर रखनी शुरू कर दी है. आलिया ने अपने पहले ट्वीट में लिखा, "मैं आलिया सिद्दीकी हूं. मुझे मजबूर किया गया है कि मैं ट्विटर पर आकर सच को जाहिर करूं. ताकि किसी तरह का कोई मिसकम्युनिकेशन नहीं हो."



आलिया ने लिखा, "शक्ति के गलत इस्तेमाल से सच को खामोश न किया जा सके. सच को न तो खरीदा जा सकता है और न ही तोड़ा-मरोड़ा जा सकता है." अपने दूसरे ट्वीट में आलिया ने आलिया ने लिखा, "शुरुआत इस बात से करूंगी कि मैं अब किसी भी पुरुष के साथ रिलेशनशिप में नहीं हूं. और अगर किसी भी तरह की मीडिया रिपोर्ट ऐसा दावा करती है तो वो झूठ है. क्योंकि ऐसा जानने में आया है कि कुछ मीडिया हाउसेज ने मेरी तस्वीर के साथ छेड़छाड़ की है ताकि सच को झुठलाया जा सके."

अपने अगले ट्वीट में आलिया ने लिखा, "मैं अब खड़ी होना और अपने लिए बोलना सीख रही हूं. मजबूत बन रही हूं अपने बच्चों के लिए. मैंने आज तक कुछ भी गलत नहीं किया है इसलिए मुझे किसी भी चीज की फिक्र नहीं है. हालांकि मैं इस चीज की निंदा करती हूं कि कोई मेरी इज्जत को तार-तार करे ताकि किसी और के चरित्र को बचाया जा सके. पैसा सच को खरीद नहीं सकता है."

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it