Top
Begin typing your search...

सोनम कपूर भी कूदीं नेपोटिज्म की लड़ाई में, कहा- हां मैं पापा अनिल कपूर...

सोनम कपूर भी कूदीं नेपोटिज्म की लड़ाई में, कहा- हां मैं पापा अनिल कपूर...
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत के सुसाइड ने फिल्म इंडस्ट्री की सच्चाई को सामने लाकर खड़ा कर दिया है। नेपोटिज्म पर हर कोई सामने आकर अपनी राय रख रहा है। खासकर कंगना रनौत। हाल ही में सोनम कपूर ने भी नेपोटिज्म को लेकर एक ट्वीट शेयर किया है। वह भी इस लड़ाई में कूद पड़ी हैं। सोशल मीडिया पर सोनम कपूर को लोग काफी ट्रोल कर रहे हैं। इस नफरत के चलते सोनम कपूर ने हाल ही में अपना कॉमेंट सेक्शन भी बंद कर दिया।

सोनम कपूर ने ट्विटर पर इस नफरत पर एक पोस्ट शेयर की है। साथ ही उन्होंने ट्रोलर्स पर निशाना साधते हुए लिखा है कि आज फादर्स डे के दिन मैं एक चीज कहना चाहती हूं। हां मैं अपने पिता की बेटी हूं, हां मैं उनकी वजह से यहां पर हूं और मुझे इस बात पर गर्व है। इसमें मेरी कोई बेइज्जती नहीं। मेरे पिता ने बहुत मेहनत की है और हमें यहां तक पहुंचाया है। यह मेरा कर्म है जो मैं यहां हूं और उनके घर में पैदा हुई हूं। मुझे अपने पिता की बेटी होने पर गर्व है।



इससे पहले सोनम कपूर ने सुशांत सिंह राजपूत के सुसाइड के बाद एक ट्वीट किया था जिसमें उन्होंने लिखा था कि किसी की मौत पर उसकी गर्लफ्रेंड, एक्स गर्लफ्रेंड, परिवार, साथ काम करने वाले लोगों को दोष देना अज्ञानता है।

बॉलीवुड पर भड़कीं कंगना रनौत, कहा- यह सुसाइड नहीं, प्लांड मर्डर है

वहीं सुशांत के आत्महत्या करने पर कंगना ने बॉलीवुड इंडस्ट्री के कुछ लोगों पर निशाना साधा है। कंगना की टीम ने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक वीडियो शेयर किया है, जिसमें वह कह रही हैं, 'सुशांत सिंह राजपूत की मौत ने सभी को झकझोर कर रख दिया है, लेकिन कुछ जो इस मामले में माहिर है कि किस तरह पैनल नैरेटिव चलाना है वे बता रहे हैं कि कुछ लोगों का दिमाग कमजोर होता है वे डिप्रेशन में आ जाते हैं और सुसाइड कर लेते हैं। वह इंजीनियरिंग के एंट्रेंस एग्जाम का रैंक होल्डर है। उसका दिमाग कमजोर कैसे हो सकता है। उनके लास्ट पोस्ट देखिए। वह लोगों से कह रहे हैं कि मेरी फिल्में देखिए। मेरा कोई गॉडफादर नहीं है, मुझे निकाल दिया जाएगा इंडस्ट्री से। अपने इंटरव्यू में वह जाहिर कर रहे हैं कि मुझे क्यों नहीं इंडस्ट्री अपनाती है। तो इस हादसे की कोई बुनियाद नहीं है। वाहियात फिल्म को सारे अवॉर्ड मिलते हैं।'

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it