Top
Begin typing your search...

लॉकडाउन के कारण दुबई में फंसे सोनू निगम को लेकर मचा बवाल, सोशल मीडिया पर उठी गिरफ्तारी की मांग?

लॉकडाउन के कारण दुबई में फंसे सोनू निगम को लेकर मचा बवाल, सोशल मीडिया पर उठी गिरफ्तारी की मांग?
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

3 साल पहले इस हंगामे के बाद सोनू निगम ने अपना ट्विटर अकाउंट डिलीट कर दिया है.

बॉलीवुड सिंगर सोनू निगम इस समय दुबई में हैं और वहां से वर्जुअल कंसर्ट्स कर रहे हैं. सोनू पूरी दुनिया में कोरोना वायरस की वजह से चल रहे लॉकडाउन के कारण भारत वापस नहीं आ सके हैं. इस बात की जानकारी खुद सोनू निगम ने बीते द‍िनों दी थी. लेकिन सोनू के दुबई र‍हने पर सोशल मीड‍िया पर बवाल मचा हुआ है. इसकी वजह है अजान को लेकर 3 साल पहले किया गया उनका ट्वीट.

सोनू के पुराने ट्वीट को लेकर कई सारे लोग दुबई पुलिस से सिंगर की गिरफ्तारी की मांग भी कर रहे हैं. पिछले कुछ दिनों से सोनू निगम द्वारा 3 साल पहले अजान को लेकर किए गए ट्वीट्स के स्क्रीनशॉट लगातार सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं. ट्वीट्स में कहा जा रहा है कि सोनू निगम को भारत में अजान की वजह से सोने में दिक्कत होती थी. अब जब वे दुबई में हैं तो दुबई पुलिस द्वारा उनकी इस समस्या का समाधान होना चाहिए. सोनू निगम के ट्वीट पर 3 साल पहले भी बवाल मचा था. अब ये ट्वीट्स फिर से फैल रहे हैं और उनकी गिरफ्तारी की मांग भी की जाने लगी है. इस हंगामे के बाद सोनू निगम ने अपना ट्विटर अकाउंट डिलीट कर दिया है.




वहीं कुछ लोग उनके सपोर्ट में भी आगे आए है. उनका कहना है कि सोनू निगम ने लाउडस्पीकर को लेकर ऐतराज जताया था. उन्होंने सिर्फ मज्जिदों पर ही नहीं बल्कि मंदिरों और गुरुद्वारों द्वारा स्पीकर्स के इस्तेमाल करने पर भी अपनी नाराजकी व्यक्त की थी जिसमें कुछ भी गलत नहीं.




अप्रैल 2017 में सोनू निगम ने किया था ट्वीट

मामले की बात करें तो सोनू निगम ने अप्रैल 2017 में कई सारे ट्वीट्स के जरिए बताया था कि कैसे सुबह की अजान से उनकी नींद खराब हो जाती है. उन्होंने मज्जिद, मंदिर और गुरुद्वारों को ध्वनि प्रदूषण बढ़ाने के लिए जिम्मेदार ठहराया था. उस दौरान उनके ट्वीट्स को इस्लामोफोबिक करार दिया गया था और उनका खूब विरोध हुआ था.

दुनियाभर में जहां पहले से ही कोरोना वायरस की वजह से महामारी फैली हुई है वहीं सोशल मीडिया पर धर्मों पर बहसबाजी कम होने का नाम नहीं ले रही. हालांति दुबई पुलिस की तरफ से मामले पर कोई प्रतिक्रिया फिलहाल नहीं आई है. अब देखने वाली बात ये होगी कि ये मामला आगे क्या मोड़ लेता है.

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it