Top
Home > राज्य > गोवा > नहीं रहे मनोहर पर्रिकर : सादगी की मिसाल थे आखिरी दम तक की जनता की सेवा, नेताओं ने कुछ इस तरह याद कर दी श्रद्धांजलि

नहीं रहे मनोहर पर्रिकर : सादगी की मिसाल थे आखिरी दम तक की जनता की सेवा, नेताओं ने कुछ इस तरह याद कर दी श्रद्धांजलि

मनोहर पर्रिकर की बहादुरी, जोश और जज्बे का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि जनवरी में बीमारी की हालत में उन्होंने राज्य का बजट पेश किया था.

 Special Coverage News |  17 March 2019 3:12 PM GMT  |  दिल्ली

नहीं रहे मनोहर पर्रिकर : सादगी की मिसाल थे आखिरी दम तक की जनता की सेवा, नेताओं ने कुछ इस तरह याद कर दी श्रद्धांजलि

नई दिल्ली : गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर का रविवार को 63 साल की उम्र में निधन हो गया है. वह लंबे समय से बीमार थे और उनकी हालत बेहद नाजुक थी. मनोहर पर्रिकर एडवांस्ड पैंक्रियाटिक कैंसर से जूझ रहे थे. पिछले साल फरवरी में बीमारी का पता चलने के बाद उन्होंने गोवा, मुंबई, दिल्ली और न्यूयॉर्क के अस्पतालों में इलाज कराया, आखिरकार 17 मार्च को कैंसर के आगे वह जिंदगी की जंग हार गए.

गंभीर बीमारी के चलते पर्रिकर की सेहत में लगातार उतार-चढ़ाव बना रहा लेकिन उन्होंने पूरी लगन के साथ अपने आखिरी दम तक जनता की सेवा की. पार्टी में मनोहर पर्रिकर के काम के प्रति जोश और जज्बे की हमेशा तारीफ होती रही. पर्रिकर ने युवाओं में जोश पैदा करने की मिसाल कायम की.

मनोहर पर्रिकर शालीन, सरल, स्वभाव के नेता रहे. कैंसर जैसी गंभीर बीमारी के बावजूद मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर नाम में ड्रिप लगाए हुए ही ऑफिस जाते थे और नेताओं के साथ बैठक करते थे. बता दें कि मनोहर पर्रिकर की पत्नी भी कैंसर से जंग लड़ते हुए ही जिंगदी की जंग हार गई थीं.

मनोहर पर्रिकर की बहादुरी, जोश और जज्बे का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि जनवरी में बीमारी की हालत में उन्होंने राज्य का बजट पेश किया था. इस दौरान उनकी नाक में ट्यूब डली हुई थी. बजट पेश करने के दौरान उन्होंने कहा था कि आज एक बार फिर से वादा करता हूं कि मैं अपनी अंतिम सांस तक ईमानदारी, निष्ठा और समर्पण के साथ गोवा की सेवा करूंगा. उन्होंने जिस जोश से जनता से सेवा करने का वादा किया था उसे आखिरी दम तक निभाया.

इससे पहले अटल सेतु के उद्घाटन के मौके पर उन्होंने उरी फिल्म के डॉयलाग How's The Josh से युवाओं में प्रोत्साहित करते हुए जोश भरने की कोशिश की थी. जिसके बाद सोशल मीडिया पर हाउ इज द जोश काफी ट्रेंड हुआ.

नेताओं ने कुछ इस तरह याद कर दी श्रद्धांजलि -

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मनोहर पर्रिकर के निधन पर शोक जताया।


मनोहर पर्रिकर के निधन पर शोक जताते हुए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा- पार्टी से इतर वह मेरे बहुत अच्छे दोस्त थे। उनके निधन बीजेपी को भारी क्षति हुई है।


केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने मनोहर पर्रिकर के निधन पर दुख जताते हुए कहा कि लोग पर्रिकर को उनकी सादगी और ईमानदारी के लिए जानते थे।

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने भी मनोहर पर्रिकर के निधन पर शोक जताया और कहा कि उन्होंने अपना पूरा जीवन देश के लिए समर्पित कर दिया।


केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने भी ट्वीट करके मनोहर पर्रिकर के निधन पर शोक जताया।


कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गोवा के CM मनोहर पर्रिकर के निधन पर दुख जताया। कहा- वह गोवा के सबसे प्रिय बेटों में से एक थे।



मनोहर पर्रिकर के निधन पर शोक जताते हुए दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पर्रिकर भारतीय राजनीति में सादगी के प्रतीक थे।



Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it