Top
Home > राज्य > गुजरात > Earthquake: 5 घंटे में भूकंप के 3 झटके, 4.1 तीव्रता से थर्राया गुजरात

Earthquake: 5 घंटे में भूकंप के 3 झटके, 4.1 तीव्रता से थर्राया गुजरात

हालांकि राजकोट में भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए. लोगों को अपने घरों का हिलना महसूस किया. जिसके बाद लोगों में काफी डर का माहौल रहा.

 Arun Mishra |  29 Sep 2020 2:19 PM GMT  |  गुजरात

Earthquake: 5 घंटे में भूकंप के 3 झटके, 4.1 तीव्रता से थर्राया गुजरात
x

गुजरात के राजकोट जिले में मंगलवार को 4.1 तीव्रता का भूकंप महसूस किया गया. हालांकि इसमें जानमाल के नुकसान की कोई खबर नहीं है. गांधीनगर स्थित भूकंप विज्ञान अनुसंधान संस्थान (आईएसआर) के अनुसार भूकंप अपराह्न 3 बजकर 49 मिनट पर आया जो जिले के उपलेटा से 25 किलोमीटर पूर्व-उत्तरपूर्व में 14.5 किलोमीटर की गहराई पर केंद्रित था. राजकोट ग्रामीण पुलिस के एक अधिकारी ने कहा, 'किसी भी क्षेत्र से जान-माल के नुकसान की कोई खबर नहीं मिली है.' इससे पहले आज दोपहर लेह और अरुणाचल प्रदेश में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए. लेह में आए भूकंप की तीव्रता रिक्‍टर स्‍केल पर 3.2 थी. जबकि अरुणाचल प्रदेश में आए भूकंप की तीव्रता 3.5 थी. हालांकि राजकोट में भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए. लोगों को अपने घरों का हिलना महसूस किया. जिसके बाद लोगों में काफी डर का माहौल रहा.

लद्दाख में शुक्रवार को भूकंप के 2 झटके

लद्दाख क्षेत्र में शुक्रवार शाम 5.4 और 3.6 की मध्यम तीव्रता वाला भूकंप दो बार आया. राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान केंद्र (एनसीएस) ने यह जानकारी दी. एनसीएस ने कहा कि 5.4 तीव्रता वाला भूकंप शाम चार बज कर 27 मिनट पर आया. वहीं, 3.6 तीव्रता वाला भूकंप शाम पांच बज कर 29 मिनट पर आया. हिमालयी क्षेत्र भूकंपीय गतिविधियों के लिये अत्यधिक संवेदेनशील है.

इससे पहले 23 सिंतबर को श्रीनगर और दक्षिण कश्मीर के कई हिस्सों में भूकंप के जोरदार झटके महसूस किये गए थे. हालांकि भूकंप आने की पुष्टि किये जाने से पहले तक सोशल मीडिया पर तरह-तरह की अफवाहें उड़ती रहीं और हंसी मजाक चलता रहा था. कोई इसे धमका बता रहा था तो किसी ने कहा कि प्रेशर कूकर फटने की वजह से ऐसा हुआ. वहीं कुछ लोगों ने इसे भूकंप बताया. राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान केन्द्र ने बाद में पुष्टि की थी कि रात करीब नौ बजकर 40 मिनट पर भूकंप आया था, जिसकी तीव्रता 3.6 थी. भूकंप का केन्द्र जमीन से पांच किलोमीटर नीचे था.

इससे पहले 23 सिंतबर को श्रीनगर और दक्षिण कश्मीर के कई हिस्सों में भूकंप के जोरदार झटके महसूस किये गए थे. हालांकि भूकंप आने की पुष्टि किये जाने से पहले तक सोशल मीडिया पर तरह-तरह की अफवाहें उड़ती रहीं और हंसी मजाक चलता रहा था. कोई इसे धमका बता रहा था तो किसी ने कहा कि प्रेशर कूकर फटने की वजह से ऐसा हुआ. वहीं कुछ लोगों ने इसे भूकंप बताया. राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान केन्द्र ने बाद में पुष्टि की थी कि रात करीब नौ बजकर 40 मिनट पर भूकंप आया था, जिसकी तीव्रता 3.6 थी. भूकंप का केन्द्र जमीन से पांच किलोमीटर नीचे था.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Arun Mishra

Arun Mishra

Arun Mishra


Next Story
Share it