Home > राज्य > गुजरात > गुजरात हाईकोर्ट जज के तबादले को सुप्रीम कोर्ट में देगा चुनौती एसोसिएशन

गुजरात हाईकोर्ट जज के तबादले को सुप्रीम कोर्ट में देगा चुनौती एसोसिएशन

 Special Coverage News |  2018-11-08 06:16:49.0  |  अहमदाबाद

गुजरात हाईकोर्ट जज के तबादले को सुप्रीम कोर्ट में देगा चुनौती एसोसिएशन

अहमदाबाद. गुजरात हाईकोर्ट एडवोकेट्स एसोसिएशन (जीएचएए) गुजरात हाईकोर्ट के वरिष्ठतम जज जस्टिस अकील कुरैशी के तबादले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देगा। सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने गत दिनों जस्टिस कुरैशी के बांबे हाईकोर्ट में तबादले की अनुसंशा की थी जिस पर केन्द्र सरकार ने मुहर लगा दी थी। हालांकि बाद में केन्द्र सरकार ने एक और अधिसूचना जारी कर जस्टिस कुरैशी को गुजरात हाईकोर्ट का प्रभारी मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया था।

गुजरात हाईकोर्ट एडवोकेट्स एसोसिएशन ने पहले गुजरात हाईकोर्ट के समक्ष जस्टिस कुरैशी के तबादले को चुनौती देने का विचार किया था, लेकिन एसोसिएशन ने बाद में यह विचार बदलते हुए जज कुरैशी के तबादले को सुप्रीम कोर्ट के समक्ष चुनौती दिए जाने का निर्णय लिया है। सुप्रीम कोर्ट में इस फैसले को चुनौती दिए जाने को लेकर याचिका ड्राफ्ट की जा रही है।

उधर एसोसिएशन की ओर से यह कहा गया है कि यदि जस्टिस कुरैशी के तबादले की अधिसूचना रद्द नहीं की जाती है तो जस्टिस कुरैशी को बांबे हाईकोर्ट के जज के रूप में अपना पदभार संभालना पड़ेगा। इससे पहले जज कुरैशी के बांबे हाईकोर्ट में तबादले के विरोध में गुजरात हाईकोर्ट के 20 वरिष्ठ वकीलों ने सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम को पत्र लिखा है।

इस पत्र में जस्टिस कुरैशी को बांबे हाईकोर्ट में वरीयता क्रम में पांचवें जज के रूप में तबादले का विरोध करते हुए कॉलेजियम से इस निर्णय पर फिर से विचार करने की गुहार लगाई गई है। इसमें यह कहा गया कि जस्टिस कुरैशी का तबादला कर उन्हें किसी अन्य हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश या प्रभारी मुख्य न्यायाधीश नहीं बनाकर बांबे हाईकोर्ट के पांचवें जज के रूप में नियुक्ति करने से गलत संदेश जाएगा।

इससे पहले गत सप्ताह गुजरात हाईकोर्ट एडवोकेट्स एसोसिएशन (जीएचएए) की असाधारण सामान्य सभा में जस्टिस कुरैशी के तबादले का विरोध करते हुए अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया था जो फिलहाल जारी है। एसोसिएशन के अध्यक्ष व वरिष्ठ वकील यतिन ओझा के मुताबिक एसोसिएशन को गुजरात उच्च न्यायालय के वरिष्ठतम जज जस्टिस कुरैशी को बांबे हाईकोर्ट में वरीयता में पांचवें जज के रूप में तबादले का कोई सार्थक कारण नहीं दिखाई देता है।

सु्प्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने गत 29 अक्टूबर को आयोजित बैठक में न्यायाधीश कुरैशी के मुंबई हाईकोर्ट में तबादले की अनुशंसा की थी। इसके बाद गत 1 नवम्बर को न्यायाधीश अनंत एस दवे को गुजरात उच्च न्यायालय का प्रभारी मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया गया। अगले दिन केन्द्र सरकार की ओर से जस्टिस कुरैशी को गुजरात उच्च न्यायालय का प्रभारी मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया गया।

Tags:    
Share it
Top