Home > राज्य > गुजरात > सुरत में रैली के दौरान हिंसा, पुलिस कर्मियों को छोड़ेना पड़ा आंसू गैस के गोले

सुरत में रैली के दौरान हिंसा, पुलिस कर्मियों को छोड़ेना पड़ा आंसू गैस के गोले

पुलिस और भीड़ में टकराव की सूचना मिलते ही पुलिस के अधिकारी मौके पर पहुंच गए। सुरत में रैली के दौरान हिंसा, आंसू गैस के गोले,

 Sujeet Kumar Gupta |  5 July 2019 1:05 PM GMT  |  नई दिल्ली

सुरत में रैली के दौरान हिंसा, पुलिस कर्मियों को छोड़ेना पड़ा आंसू गैस के गोले

सुरत। देश में बढ़ती मॉब लिंचिंग के विरोध में शुक्रवार को रैली निकाली गई लेकिन थोड़ी ही देर में रैली में हिंसा हो गया, क्योकि पुलिस ने केवल मक्का पूल, विवेकानंद सर्कल तक ही जाने की अनुमति दी। सूरत के चौक बाजार इलाके में आयोजित रैली हजरत ख्वाजा दाना दरगाह से कलेक्टर ऑफिस, वीक लाइन्स तक गई। इसके बाद पुलिस ने आगे जाने की इजाजत नहीं दी क्योकि क्षेत्र में धारा 144 (एक क्षेत्र में 4 से अधिक लोगों के विधानसभा पर प्रतिबंध लगाया गया है)। रैली की अनुमति नहीं थी।

जबकि आयोजक रैली को आगे ले जाना चाहते थे। इसलिए कादरशानी के नाल क्षेत्र में पुलिस और लोगों के बीच टकराव हुआ। उसी समय लोगों ने सिटी बस के दो शीशे तोड़ दिए। भीड़ ने पुलिस पर पथराव किया और 4-5 पुलिसकर्मी घायल हो गए। पुलिस ने हवा में फायरिंग की। इससे रैली में अचानक भगदड़ मच गई और पुलिस ने भी आंसू गैस के गोले छोड़कर भीड़ को तितर-बितर कर दिया।

बतादें कि सूरत चौक बाजार के एक सर्कुलर मार्केट में आज मॉब लिंचिंग के विरोध में वर्सेटाइल माइनॉरिटी फोरम के बैनर तले मुस्लिम समुदाय ने एक रैली का आयोजन किया। इसमें बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए। ये लोग मांग कर रहे थे कि भीड़ की घटनाओं में शामिल अपराधियों को सख्त से सख्त सजा दी जाए और ऐसे कानून बनाए जाएं। पुलिस और भीड़ में टकराव की सूचना मिलते ही पुलिस के अधिकारी मौके पर पहुंच गए। मामला शांत होने के बाद हमलावरों को पुलिस ने हिरासत में भी लिया।



Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top