Top
Begin typing your search...

हरियाणा के झज्जर में एक कमरे में मिले जब पांच शव तो देखने वाले हैरान रह गये

यह परिवार सोमवार शाम को करीब 300 गज दूरी पर स्थित दूसरी साइट पर काम कर रहे परिचित मजदूरों से मिला था।

हरियाणा के झज्जर में एक कमरे में मिले जब पांच शव तो देखने वाले हैरान रह गये
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

झज्जर। अपराध और हत्‍या के मामले सामने आते रहते हैं। मगर कुछ घटनाएं ऐसे होती हैं जो जेहन से निकलती ही नहीं है। झज्‍जर में भी ऐसा ही हुआ है। जहां सेक्टर 6 के एक निर्माणाधीन मकान में मजदूरी कर रहे मध्यप्रदेश के जिला पन्ना निवासी जीजा-साले समेत पांच परिजनों की सिर पर वार कर हत्या कर दी गई। वारदात का पता उस समय चला जब गांव से आया फोन नहीं उठाने पर पड़ोस के एक मकान में मजदूरी कर रही महिला उनका हालचाल जानने पहुंची।

जानकारी के मुताबिक मध्यप्रदेश के जिला पन्ना के दगड़ा गांव निवासी हक्का पुत्र तूरा अपने बेटे बहादुर, बेटी दीपू के अलावा साले हाकम पुत्र मुन्नीलाल व उसकी पत्नी मैदा के साथ यहां एक निर्माणाधीन मकान में मजदूरी कर रहा था। ये सभी लोग करीब 20 दिन पहले ही यहां आए थे। यह परिवार सोमवार शाम को करीब 300 गज दूरी पर स्थित दूसरी साइट पर काम कर रहे परिचित मजदूरों से मिला था। उसके बाद किसी ने परिवार को नहीं देखा।

मंगलवार को विश्वकर्मा दिवस की छुट्टी होने के कारण किसी ने परिवार की हलचल नहीं होने पर ध्यान भी नहीं दिया। देर शाम मध्यप्रदेश में रह रहे हक्का के दूसरे पुत्र कर्ण ने उनको फोन किया लेकिन किसी ने कॉल रिसीव नहीं की। ऐसे में उसने झज्जर में परिजनों के नजदीक ही एक अन्य निर्माणाधीन मकान पर काम करने वाली परिचित मजदूर चंदा पत्नी केशव को परिवार की जानकारी लेने के लिए भेजा। जब चंदा मौके पर पहुंची तो उसने देखा कि कमरे में खून बिखरा हुआ था। सभी अचेत पड़े थे और उन्हें चादर से ढका हुआ था। इसके बाद चंदा ने परिवार व पुलिस को सूचना दी।

रंजिश में वारदात का अंदेशा

सूचना पर एसएसपी अशोक कुमार की अगुआई में डीएसपी शमशेर ङ्क्षसह, थाना प्रबंधक व एफएसएल टीम मौके पर पहुंच जांच में जुट गई। हत्या को लेकर अभी कोई कारण सामने नहीं आया है। बकौल एसएसपी प्रारंभिक रूप से मामला किसी रंजिश से जुड़ा लगता है। ठेकेदार के मुताबिक 15 सितंबर को 42,500 रुपये परिवार को दिए थे। जो कि उन्होंने अपने घर भेज दिए थे। मौके पर लूट या किसी तरह की अनहोनी की भी कोई आशंका दिखाई नहीं दी।

Special Coverage News
Next Story
Share it