Home > Archived > प्लेन का टिकट भेज पटना से फरिदाबाद बुलाया प्रॉपर्टी डीलर को और फिर कर दिया ये हादसा

प्लेन का टिकट भेज पटना से फरिदाबाद बुलाया प्रॉपर्टी डीलर को और फिर कर दिया ये हादसा

वरुण ने प्रवीण को उसके मोबाइल पर हवाई जहाज का टिकट भेजकर दिल्ली बुलाया और कोई दूसरी जगह या पैसे देने की बात कही।

 आनंद शुक्ल |  2 Dec 2017 9:20 AM GMT  |  नई दिल्ली

प्लेन का टिकट भेज पटना से फरिदाबाद बुलाया प्रॉपर्टी डीलर को और फिर कर दिया ये हादसा

फरीदाबाद: पटना से फरीदाबाद में एक प्रॉपर्टी डीलर को बुलाकर हत्या करने का मामला सामने आया है। हत्यारे युवक को मृत समझकर फरीदाबाद के जंगलों में छोड़ आए थे। गोली लगने के बाद मरने से पहले घायलावस्था में युवक ने पुलिस और पटना में अपने एक मित्र को फोन कर बचाने की गुहार लगाई, लेकिन फरीदाबाद पुलिस की तरफ से उसे कोई मदद नहीं मिली। पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर शव का पोस्टमार्टम करवा लिया गया है।परिजनों ने आरोप लगया कि फरीदाबाद पहुंचने पर उन्होंने 6 घंटे तक पुलिस को संपर्क कर जंगल की लोकेशन बताई लेकिन पीड़ितों की मदद करने की बजाय पाली पुलिस चौकी इंचार्ज सिर्फ परिजनों को बरगलाता रहा। हत्यारों ने प्रॉपर्टी डीलर को फरीदाबाद आने के लिए मोबाइल फोन से हवाई जहाज का टिकट भेजा था।

जानकारी के अनुसार मूलरुप से पटना बिहार निवासी प्रवीण प्रॉपर्टी डीलर का काम करता था। प्रवीण ने अपने ही जिले के रहने वाले वरुण सिंह से उसने एक जमीन 1करोड़ 36 लाख रुपए में खरीदी थी। प्रवीण ने वरुण की पूरी पेमेंट भी कर दी थी लेकिन रजिस्ट्री कराने का समय आया तो वरुण भाग गया। श्रवण कुमार ने बताया कि इस पर प्रवीण ने वरुण के खिलाफ मामला दर्ज करवा दिया। उसी रंजिश में वरुण ने प्रवीण को उसके मोबाइल पर हवाई जहाज का टिकट भेजकर दिल्ली बुलाया और कोई दूसरी जगह या पैसे देने की बात कही। उसके बाद वरुण और उसके साथी अजय यादव ने फरीदाबाद में पाली-सूरजकुंड रोड जंगलों में जाकर गोली मारकर उसकी हत्या कर दी।
हालांकि गोली लगने के बाद भी प्रवीण काफी देर जिंदा रहा। उसने घायल अवस्था में पटना में अपने एक मित्र को फोन किया और बचाने की गुहार लगाई। वहीं मृतक के साले रंजीत ने बताया कि वह सेलुलर कंपनी में काम करता है। उसने प्रवीण के मोबाइल की लोकेशन निकालकर वह लगातार पाली पुलिस चौकी इंचार्ज से संपर्क करता रहा लेकिन उसकी तरफ से कोई मदद नहीं मिली। अगर पुलिस की मदद मिल जाती तो प्रवीण की जान बचाई जा सकती थी।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top