Top
Home > राज्य > हरियाणा > गुरुग्राम > बेरहम इंसान ने हथौड़े से कुचल पत्नी और बच्चों की ली जान, फिर फांसी के फंदे से लटका

बेरहम इंसान ने हथौड़े से कुचल पत्नी और बच्चों की ली जान, फिर फांसी के फंदे से लटका

गुड़गांव में अपनों के बेरहमी कत्ल और फिर खुद की जान देने का दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है?

 Special Coverage News |  2 July 2019 5:07 AM GMT  |  दिल्ली

बेरहम इंसान ने हथौड़े से कुचल पत्नी और बच्चों की ली जान, फिर फांसी के फंदे से लटका
x

गुड़गांव : दिल्ली से सटे गुड़गांव में अपनों के बेरहमी कत्ल और फिर खुद की जान देने का दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। शहर के सेक्टर 49 स्थित सोसायटी उप्पल साउथ एंड में तीन मर्डर और एक खुदकुशी से आस-पड़ोस के लोग हैरत में हैं। किसी को समझ में नहीं आ रहा कि आखिर डॉक्टर प्रकाश ने ऐसा कदम क्यों उठाया। पुलिस व परिचित भी कोई ठोस वजह नहीं बता पा रहे हैं। शुरुआती जानकारी के मुताबिक नौकरी के संकट और बेकाबू गुस्से के चलते हत्या और फिर अपनी जान देने का मामला लग रहा है। रविवार देर रात किसी तेजधार हथियार से पत्नी, बेटी और बेटे की हत्या करने के बाद प्रकाश ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली।

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के मुताबिक डॉ. प्रकाश ने पत्नी और दोनों बच्चों पर हथौड़े से वार किए और फिर चाकू से गोद डाला। पुलिस को प्रकाश की पैंट से एक सूइसाइड नोट भी मिला है, जिससे यह संकेत मिलते हैं कि उसने आत्महत्या से पहले सबको मार डाला था। प्रकाश ने नोट में लिखा, 'मैं अपने परिवार को साथ लेकर चलने में असफल रहा। इसके लिए मैं पूरी तरह जिम्मेदार हूं। कोई और नहीं।'

रात दो बजे ली बच्चों की जान, फिर खुद लटका

सिविल हॉस्पिटल के फॉरंसिक हेड दीपक माथुर ने बताया, 'प्रकाश ने फांसी से लटककर जान दे दी, जबकि पत्नी, बेटे और बेटी के सिर पर कई गहरे जख्म पाए गए हैं। उनकी गर्दन पर भी काफी गहरे कट हैं और शायद कुछ मिनटों के भीतर ही तीनों की मौत हो गई थी। यह घटना सोमवार रात दो बजे के करीब की है।'

तीनों के सिर पर किए थे हथौड़े से वार

प्रकाश ने अपने ही बच्चों और पत्नी पर कितना जघन्य हमला किया था, यह फॉरंसिक रिपोर्ट से पता चलता है। बेटी अदिति के शरीर पर 12 गहरे जख्म हैं, जबकि आदित्य के सिर पर ही 8 जख्म हैं। पत्नी सोनू के शरीर पर 19 कट पाए गए हैं, इनमें से ज्यादातर सिर पर हैं।

घर में सिर्फ 4 कुत्ते जिंदा बचे, सबसे पहले पहुंची मेड

डॉ. प्रकाश ने अपने साथ घर के सभी लोगों की जान ले ली। घर में सिर्फ 4 कुत्ते ही जिंदा बचे, जो शवों के पास में बैठे थे और जब पड़ोसी झांकते तो उन पर भौंक रहे थे। इन कुत्तों में से दो ल्हासा नस्ल के थे और दो अन्य नस्लों के। घटना का खुलासा उस वक्त हुआ, जब मेड पहुंची। उसने बेल बजाई तो कोई आवाज न आई, इसके बाद उसने खिड़की से झांका तो लाशें खून से लथपथ पड़ी थीं।

नोट में लिखा, संभाल नहीं पाया, इसलिए खत्म कर रहा हूं

खिड़की से ग्रिल हटाकर एक व्यक्ति अंदर गया। बेड रूम में बेड पर डॉ़ सोनू, फर्श पर बेटी अदिति मृत पड़ी थीं। बगल के कमरे की ओर जा रहे रास्ते में बेटा आदित्य मृत था। ड्रॉइंग रूम में डॉ़ प्रकाश फांसी के फंदे से लटके मिले। फरेंसिक टीम ने मौके से साक्ष्य जुटाए। पुलिस की सूचना पर नोएडा से कोमल की बहन गुड़गांव पहुंचीं। प्रकाश के कपड़ों की तलाशी लेने पर जेब से स्यूसाइड नोट मिला। इसमें उसने लिखा था कि मैं अपने परिवार को संभाल नहीं पाया। इसके लिए मैं ही जिम्मेदार हूं। इसीलिए अब मैं सब खत्म कर रहा हूं।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it