Top
Home > राज्य > हरियाणा > आत्महत्या से पहले फेसबुक लाइव पर बनाया वीडियो, फिर खुद को मारी गोली

आत्महत्या से पहले फेसबुक लाइव पर बनाया वीडियो, फिर खुद को मारी गोली

रात फेसबुक पर लाइव आकर और खुद को गोली मारकर आत्महत्या का सनसनीखेज मामला सामने आया है

 Arun Mishra |  11 July 2020 3:33 AM GMT  |  दिल्ली

आत्महत्या से पहले फेसबुक लाइव पर बनाया वीडियो, फिर खुद को मारी गोली
x

हरियाणा : भिवानी में एक व्यक्ति द्वारा देर रात फेसबुक पर लाइव आकर और खुद को गोली मारकर आत्महत्या का सनसनीखेज मामला सामने आया है. मृतक रेवाड़ी के एक निजी अस्पताल में काम करता था और वहीं के एक कर्मचारी पर आत्महत्या के लिए परेशान करने और अस्पताल प्रबंधन पर समाधान ना करने का आरोप लगाया है.

भिवानी के सेक्टर-13 निवासी 38 साल के साबू, रेवाड़ी में आंखों के एक निजी अस्पताल कृष्णा आई अस्पताल में एडमिनिस्ट्रेटर के तौर पर कार्यरत थे. अस्पताल स्टाफ के साथ अनबन के चलते ये देर रात दो बजे के करीब फेसबुक पर लाइव आकर अपनी बंदूक से गोली मार कर आत्महत्या की बात कर रहे थे.

करीब 4-5 मिनट के फेसबुक लाइव में साबू ने अपने साथी कर्मचारी ऋषि को आत्महत्या के लिए मजबूर करने का आरोप लगाया. साथ ही प्रबंधक गोपाल व किसी ममता मैडम को मामले की सुलह ना करवाने के लिए भी दोष देता रहा और फिर एकाएक अपनी लाइसेंसी रिवॉल्वर से दो-तीन गोली मार कर आत्महत्या कर ली.

जब इस बात का पता परिजनों को चला तो उन्होंने पुलिस को सूचना दी और अस्पताल के उन लोगों की पहचान की, जिनके ऊपर आरोप लगे हैं. इस पर सिविल लाइन थाना प्रभारी मौके पर पहुंचे और शव कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए चौधरी बंसीलाल नागरिक अस्पताल पहुंचाया.

मृतक के चाचा ने बताया कि साबू रात करीब साढ़े 11 बजे घर से निकला और देर रात करीब डेढ़-दो बजे फेसबुक पर लाइव आकर हुडा पार्क में खुद को गोली मार ली.

वहीं मामले की जांच कर रहे सिविल लाइन थाना प्रभारी विद्यानंद ने बताया कि साबू नामक व्यक्ति जो रेवाड़ी कि एक अस्पताल में कार्यरत हुआ था, उसने देर रात खुद की लाइसेंसी रिवॉल्वर से गोली मार कर आत्महत्या कर ली. उन्होंने बताया कि ये पूरा वाकया देर रात फेसबुक पर लाइव आकर किया गया. मृतक के पिता की शिकायत पर रेवाड़ी अस्पताल में कार्यरत एक कर्मचारी के खिलाफ आत्महत्या के लिए मजबूर करने का मामला दर्ज कर जांच की जा रही है.

मृतक साबू तीन बच्चों का पिता था. उसके एक छोटी बेटी व दो बेटे हैं. इस घटना को अंजाम देने से पहले साबू खुद बहुत परेशान था और उसे परिवार को छोड़कर जाने का दुख भी था. इस घटना के बाद जहां उसके बच्चे अनाथ हो गए. वहीं, अस्पताल प्रशासन व समाज पर बड़ा सवाल खड़ा हुआ है कि आखिर समय रहते किसी समस्या या विवाद का समाधान कर लिया गया होता तो साबू शायद ऐसा कदम न उठाता.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Arun Mishra

Arun Mishra

Arun Mishra


Next Story
Share it