Home > Archived > हरियाणा पुलिस का दावा- हनीप्रीत ने कबूली गुरमीत राम रहीम को लेकर ये 13 खास बातें

हरियाणा पुलिस का दावा- हनीप्रीत ने कबूली गुरमीत राम रहीम को लेकर ये 13 खास बातें

 शिव कुमार मिश्र |  12 Oct 2017 8:58 AM GMT  |  चंडीगढ़

हरियाणा पुलिस का दावा- हनीप्रीत ने कबूली गुरमीत राम रहीम को लेकर ये 13  खास बातें

पंचकूला: रेप के आरोप में 20 साल कैद की सजा काट रहे गुरमीत राम रहीम की करीबी हनीप्रीत ने पुलिस के सामने कई बातें कबूली हैं. पंचकूला में हुई हिंसा पर हनीप्रीत ने कहा 'अगर बाबा राम रहीम बरी होते तो सत्संग करते और दोषी होते तो दंगा....और वही किया'.


अभी तक पुलिस के सवालों का गोलमोल जवाब दे रही हनीप्रीत ने आखिरकार यह बड़ा कबूलनामा किया है पुलिस के दावे के मुताबिक हनीप्रीत ने कुछ ऐसी बातें बताई हैं जो चौंकाने वाली हैं.

हनीप्रीत द्वारा कबूली गई ये खास बातें



  1. हनीप्रीत ने कहा- बाबा बरी होते तो सत्संग करते.. दोषी होते तो दंगा और वही किया.
  2. पंचकूला पुलिस की एसआईटी के मुताबिक हनीप्रीत ने कबूला है कि 17 अगस्त को सिरसा डेरे में हुई मीटिंग की अध्यक्षता उसी ने की थी.
  3. इसी मीटिंग में फाइनल किया कि 25 अगस्त को डेरा प्रमुख को बरी कर दिया जाता, तो पंचकूला में सत्संग करेंगे।
  4. इसी मीटिंग से पंचकूला में दंगे करवाने की साजिश शुरू हुई
  5. हनीप्रीत ने मैप पर मार्किंग करने, ब्लैकमनी से फंडिंग कराने, देश के खिलाफ वीडियो वायरल करने के साथ ही कई जुर्म कबूले.
  6. डेरा समर्थकों को पहले ही पंचकूला पहुंचने को कहा और सेक्टर-23 में तैयारी करने को कहा. खाली साइट्स पर पहले ही साफ-सफाई करा दी गई.
  7. सारी प्लानिंग कोर्ट के फैसले पर टिकी थी, इसलिए इसी मीटिंग में तय किया गया कि गुरमीत सिंह के खिलाफ फैसला आता है तो पंचकूला में दंगा भड़का दिया जाएगा. दंगों को अंजाम देने के लिए पंचकूला में उपद्रवियों की एंट्री कैसे करनी है, उन्हें कैसे निकालना है.
  8. ये सारी प्लानिंग हनीप्रीत ने लैपटॉप पर की गई. इसके लिए पंचकूला के मैप पर मार्किंग की गई.
  9. इस साजिश में अहम रोल निभाने वाले वॉट्सएप कॉलिंग के जरिये कॉन्टैक्ट में रहेंगे, नॉर्मल कॉलिंग का इस्तेमाल नहीं करेंगे.
  10. दंगे की फंडिंग ब्लैकमनी से की गई.
  11. इसके फर्जी कागजात तैयार करने का जिम्मा बाबा के पीए राकेश को दिया गया.डेरा प्रमुख के पीए राकेश ने भी अपने बयान में कहा था कि दंगे के लिए ब्लैकमनी इस्तेमाल की गई. इसे व्हाइट करने के लिए हनीप्रीत ने फर्जी दस्तावेज बनाने को कहा था.
  12. करीब 5 करोड़ रुपए हनीप्रीत ने चमकौर इंसां के हाथों खुद भिजवाए.
  13. ब्लैक मनी को व्हाइट करने की फाइल जब्त करने हनीप्रती के साथ पुलिस गई गुरुसर मोडिया

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top