Top
Home > हेल्थ > बच्चों को कोरोना वायरस के खतरे से इस तरह बचाएं

बच्चों को कोरोना वायरस के खतरे से इस तरह बचाएं

बच्चों को पानी खूब पिलाएं। उन्हें अच्छे से खाना खिलाते रहें ताकि उसकी इम्युनिटटी बनी रहे। ऐसी कोई भी चीज न दें जिससे इनका गला खराब हो।

 Sujeet Kumar Gupta |  22 March 2020 5:22 AM GMT  |  नई दिल्ली

बच्चों को कोरोना वायरस के खतरे से इस तरह बचाएं
x

भारत में कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 324 हो गई है। इनमें 283 भारतीय और 41 विदेशी शामिल हैं। वहीं, 24 लोग पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं जबकि चार लोगों की मौत हुई है। कोरोना के बढ़ते खतरे ने लोगों की चिंता बढ़ा दी है। सबसे ज्यादा चिंतित वे लोग हैं जिनके घर में बच्चे हैं, हालांकि बच्चों में कोरोना वायरस के संक्रमण का केस बहुत कम ही देखने को मिला है। फिर भी विश्व स्वास्थ्य संगठन और यूनिसेफ ने संक्रमण से बचाने के लिए बच्चों का खासतौर पर ख्याल रखने की सलाह दी है। सेंटटर फॉर डिजिज एंड प्रिवेंशन (सीडीपी) ने इससे जुड़े दिशा निर्देश जारी किए हैं। आइए हम जानते हैं कि अपने बच्चोंको इस जानलेवा खतरे से कैसे बचाएं?

आदत में बदलाव

अपने बच्चों को किसी भी संक्रमित व्यिक्ति के आस पास न जाने दें। खांसी जुकाम और बुखार से पीड़ित लोगों से उन्हें दूर रखें।

साफ रहने के तरीके बताएं

अपने घर को स्वच्छ रखें और अगर समय हो तो सुबह-शाम पूरे परिसर को कीटाणुनाशक से सफाई करते रहें।

उनके खिलौन भी कीटाणुनाशक से साफ करें। नाखूनों को भी साफ रखें क्योंकि उसमें छिपे वायरस बच्चे को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

बच्चों को साबुन-पानी से लगातार हाथ धोना सिखाएं।

उम्दा भोजन कराएं

बच्चों को पानी खूब पिलाएं। उन्हें अच्छे से खाना खिलाते रहें ताकि उसकी इम्युनिटटी बनी रहे। ऐसी कोई भी चीज न दें जिससे इनका गला खराब हो।

डराएं नहीं : तमाम तरह की खबरें सुनकर बच्चों के मन में वैसे ही कई सवाल होंगे, इसलिए जरूरी है कि आप उन्हें डराएं नहीं बल्कि सही जानकारी दें। आपको अपने बच्चे की चिंता दूर करनी होगी। उसे बताना होगा कि कोरोना वायरस वद्यैसा ही वायरस हैै, जैसा आपको खांसी -जुकाम होने या डायरिया और उल्टी होने पर हमला करता है।

चिड़चिड़ा होने से बचाएं

छुट्टियां बच्चों के लिए मस्ती लेकर आती हैं। कोरोना की वजह से स्कूल बंद हैं और सारे बच्चे घर पर हैं। वह अक्सर बाहर खेलने जाने की जिद करते हैं, आप मना करेंगे तो वह चिड़चिड़े हो जाएंगे। ऐसे में उनका साथ देना होगा। उन्हें इंडोर गेम्स, नृत्य-गायन जैसी चीजों में व्यस्त रखें।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it