Top
Home > हेल्थ > कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के ऐसे दर्दनाक किस्से सामने आ रहे हैं

कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के ऐसे दर्दनाक किस्से सामने आ रहे हैं

कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की कई दर्दनाक कहानियां सामने आ रही हैं.

 Shiv Kumar Mishra |  8 April 2020 12:16 PM GMT  |  दिल्ली

कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के ऐसे दर्दनाक किस्से सामने आ रहे हैं
x

कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण की वजह से मौत के मुंह में जा रहे मरीजों (patients) के कई दर्दनाक कहानियां सामने आ रही हैं. ब्रिटेन का कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से बुरा हाल है. वहां के हॉस्पिटल संक्रमित मरीजों से भरे हुए हैं. ब्रिटेन के हॉस्पिटल से महामारी के कई दर्दनाक किस्से सामने आ रहे हैं.

एक ऐसे ही मामले में बताया जा रहा है कि हॉस्पिटल के मेडिकल स्टाफ मरते हुए मरीजों को अपना सेलफोन दे रहे हैं ताकि वो अंतिम वक्त में अपने परिजनों को अलविदा कह सकें. ब्रिटेन की एक वेबसाइट स्टैंडर्ड डॉट को डॉट यूके ने हॉस्पिटल में रोज घट रही ह्रिदय विदारक घटनाओं की जानकारी दी है.

एक हॉस्पिटल के बारे में जानकारी देते हुए वेबसाइट लिखता है कि पहले हॉस्पिटल के दरवाजे पर लिखा होता था- एक वक्त में दो ही विजिटर्स प्रवेश करें. पिछले कुछ दिनों में हॉस्पिटल के दरवाजे पर लिखी लाइन बदल गई. वहां लिखा था- एक विजिटर्स प्रवेश करें. हालात और बिगड़ने पर दरवाजे पर लिखना पड़ा- ओनली वन विजिट..और वो भी अगर आप मर रहे हों तो..

ब्रिटेन के हॉस्पिटल में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के साथ विजिटर्स को आने की अनुमति नहीं है. मरीजों के परिजन या तो खुद संक्रमित होते हैं या फिर उन्हें वायरस इनक्यूबेटर्स में रखा जाता है, ताकि उन्हें संक्रमण से बचाए रखा जा सके.

बताया जा रहा है कि हॉस्पिटलों में पर्याप्त मात्रा में प्रोटेक्टेशन इक्वीपमेंट नहीं है. अगर आप किस्मत वाले हैं तभी पीपीई पहनकर आप मरते हुए परिजनों को देख पाएंगे और वो भी सिर्फ कुछ हॉस्पिटल में. बाकि हॉस्पिटल में मरते हुए मरीजों को मेडिकल स्टाफ अपना सेलफोन दे देते हैं ताकि वो अपने अंतिम वक्त में अपने परिजनों को अलविदा कह सकें.

कोरोना के एक संदिग्ध मरीज ने अपनी कहानी बयां की है. लिखा है कि 'उसने अपने डैड के पार्टनर से कहा कि क्या आप मेरे डैड को आईफोन दे सकते हैं और उसे चलाना सिखा सकते हैं. क्योंकि अगर वो हॉस्पिटल में भर्ती होते हैं तो फिर उन्हें खुद से फोन चलाना होगा.'

उस संदिग्ध मरीज ने लिखा है कि 'पिछले हफ्ते मैंने अपना कोरोना टेस्ट मिस कर दिया. मुझमें बीमारी के माइल्ड लक्षण हैं. इतना कि मैं घर नहीं जा सकता. मैं अजीबोगरीब अनिश्चितता की स्थिति में हूं. इसके पहले मुझे अनिश्चितता का इतना तनाव कभी नहीं हुआ. ये भीतर से आपको खा जाता है. मैंने सुना कि इस समस्या का एक समाधान है. मुझसे एक लोकेशन पर जाने को कहा गया. ये एक अनजाना सा वार्ड था. कोई नाम नहीं. कोई ड्रिल नहीं. सिर्फ स्वैब का टेस्ट हुआ और रिजल्ट नेगेटिव आया. अब मैं राहत महसूस कर रहा हूं. मैं दूसरों के लिए सुरक्षित हूं.'

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it