Top
Begin typing your search...

हालात 2008 के आर्थिक संकट जैसे बन रहे हैं : जॉर्ज सॉरोस

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
George  Soros special coverage news

कोलंबोः वैश्विक बाजार में मची उठापटक को देखते हुए लग रहा है कि हालात 2008 के आर्थिक संकट जैसे बन रहे हैं। अरबपति और हेज एंड फर्म सॉरोज फंड मैनेजमेंट के चेयरमैन जॉज सॉरोज का कहना है कि वैश्विक बाजार वर्ष 2008 में आई मंदी के जैसे संकट के दौर से गुजर रहे हैं। ऐसे में निवेशकों को बहुत ज्यादा सतर्क हो जाने की जरूरत है।

श्रीलंका में आयोजित एक इकोनॉमिक फोरम में जॉर्ज ने कहा कि चीन नए ग्रोथ मॉडल के लिए संघर्ष कर रहा है, जबकि उसकी मुद्रा में किए गए अवमूल्यन ने उसकी समस्या को बाकी दुनिया पर थोप दिया है।


साल के शुरुआत में ही ग्लोबल कर्रंसी, स्टॉक मार्केट और कमॉडिटी मार्केट्स
जॉर्ज ने कहा कि वर्तमान के हालात वर्ष 2008 की वैश्विक मंदी के समान तैयार हो रहे हैं। ग्लोबल कर्रंसी, स्टॉक मार्केट और कमॉडिटी मार्केट्स साल के पहले सप्ताह से ही संकट के दौर से गुजर रहे हैं। चीन की अर्थव्यवस्था की मजबूती को लेकर संदेह जताते हुए जॉर्ज ने कहा कि युआन लगातार गिरता जा रहा है और चीन की अर्थव्यवस्था इनवेस्टमेंट और मैन्यूफेक्चिरिंग से अब उपभोग और सेवाओं की तरफ शिफ्ट होती जा रही है।
इस साल बुधवार तक ग्लोबल इक्विटीज की कीमतों में करीब 2.5 ट्रिलियन डॉलर यानी कि करीब 166 खरब रुपए गायब हो गए और इसने गुरुवार को चीनी इक्विटीज में गिरावट के साथ पूरे एशिया को नुकसान में डुबो दिया।

चुनौतियां 2008 के संकट जैसी
जॉर्ज ने कहा, 'चीन के साथ एडजस्टमेंट को लेकर बड़ी समस्या है। मैं कहूंगा कि यह कोई भी संकट खड़ा करने के लिए काफी है। जब भी मैं फाइनेंशियल मार्केट की तरफ देखता हूं तो मुझे वहां नजर आ रही गंभीर चुनौतियां 2008 के संकट की याद दिला देती हैं।
Special News Coverage
Next Story
Share it