Top
Breaking News
Home > अंतर्राष्ट्रीय > केरल के डॉक्टर पीपी देवगन के रिसर्च पर आज अमेरिका ने भी अप्रत्यक्ष रूप से मुहर लगा दी

केरल के डॉक्टर पीपी देवगन के रिसर्च पर आज अमेरिका ने भी अप्रत्यक्ष रूप से मुहर लगा दी

 Shiv Kumar Mishra |  19 May 2020 3:59 PM GMT  |  दिल्ली

केरल के डॉक्टर पीपी देवगन के रिसर्च पर आज अमेरिका ने भी अप्रत्यक्ष रूप से मुहर लगा दी

कोरोना वायरस के इलाज में केरल के डॉक्टर पीपी देवगन के रिसर्च पर आज अमेरिका ने भी अप्रत्यक्ष रूप से मुहर लगा दी है। 30 साल से सर्दी, खांसी और वायरल के मरीजों का इलाज कर रहे डॉक्टर पीपी देवन ने कुछ समय पहले कोरोना मरीजों पर अपनी रिसर्च पेश की थी।

उन्होंने 7 मरीजों पर जिंक का एक अद्भुत प्रयोग किया जिसमें बताया गया कि कोरोना के मरीजों को अगर सही मात्रा में जिंक दी जाए और नियमित रूप से गर्म पानी पीने के लिए दिया जाए तो वह बहुत जल्द ठीक हो जाते हैं।

अपने इस रिसर्च के दौरान उन्होंने जिंक और गर्म पानी के माध्यम से कोरोना के 7 मरीजों को स्वस्थ किया। आज अमेरिका ने जिंक पर हुई इस रिसर्च रिपोर्ट को सही साबित करते हुए कहा है की उन्होंने जिन मरीजों को हाइड्रोक्लोरोक्विन, एज़ीथ्रोमाइसीन और जिंक दी वे बेहद तेजी से ठीक हुए।


वहीं अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने भी आज यह बयान देकर सबको चौंका दिया की वे इन तीनों चीजों का सेवन कर रहे हैं और इसी वजह से वे अभी तक कोरोना से बचे हुए हैं। यह जानकारी इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि डॉक्टर पीपी देवन ने अपनी रिपोर्ट में यह भी कहा है कि यदि आप जिंक का नियमित रूप से सेवन करते हैं तो आप कोरोना से बहुत हद तक बचे रहेंगे।

गौरतलब है कि जिंक सभी तरह के फ्लू, वायरल फीवर और इन्फेक्शन से लड़ने में सक्रिय भूमिका निभाता है। इसलिए बेहतर है कि हम अभी से जिंक से भरपूर चीजों को अपने खान-पान में शामिल करें और स्वस्थ रहें। तरबूज, अखरोट, बादाम जिंक के महत्वपूर्ण सोर्स होते हैं। इस जानकारी को अधिक से अधिक लोगों से शेयर जरूर करें।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story

नवीनतम

Share it