Home > अंतर्राष्ट्रीय > भारतीय मूल की पत्नी की 59 बार चाकू मारकर की हत्या, कातिल पति को मिली उम्रकैद

भारतीय मूल की पत्नी की 59 बार चाकू मारकर की हत्या, कातिल पति को मिली उम्रकैद

हत्या के वक्त जब चाकू टूट गया तो तुम किचन में जाकर दूसरा चाकू लाए और फिर वार करने लगे. ये एक बहुत ही जघन्य अपराध है.

 Special Coverage News |  13 May 2019 7:14 AM GMT  |  दिल्ली

भारतीय मूल की पत्नी की 59 बार चाकू मारकर की हत्या, कातिल पति को मिली उम्रकैद

ब्रिटेन की एक अदालत ने अपनी भारतीय मूल की पत्नी का कत्ल करने वाले कातिल पति को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है. दोषी पति ने तेजधार चाकू से अपनी पत्नी एंजेला मित्तल को क्रिसमस के दिन 59 बार चाकू से गोदकर मौत के घाट उतार दिया था. दिल दहला देने वाली कत्ल की ये वारदात ब्रिटेन के बर्कशायर की है. जहां पुलिस ने क्रिसमस की रात 41 साल की एजेंला मित्तल की लाश उसके घर से बरामद की थी. पुलिस ने उस वक्त पाया था कि एंजेला के जिस्म को कई जगह से गोदा गया था. उसकी गर्दन और सीने पर चाकू के वार के कई निशान साफ दिख रहे थे.

एंजेला का मर्डर करने वाले ब्रिटिश पति की पहचान लॉरेंस ब्रांड के रूप में हुई. उसने एंजेला को मारने के लिए दो चाकूओं का इस्तेमाल किया था. पत्नी की हत्या करने के बाद उसने खुद ही इमरजेंसी नंबर 999 पर कॉल की थी. सूचना मिलने के बाद जब पुलिस मौका-ए-वारदात पर पहुंची थी तो वहां से एजेंला की खून से सनी लाश बरामद हुई थी.

वारदात के बाद आरोपी पति लॉरेंस ब्रांड को गिरफ्तार कर लिया गया. मामले की छानबीन शुरू हुई तो पता चला कि लॉरेंस ब्रांड जब अपनी पत्नी एंजेला पर एक बाद एक वार किए जा रहा था, तो इस दौरान उसका चाकू टूट गया था. लेकिन लॉरेंस के सिर पर ऐसा हैवान सवार था कि वो किचन में गया और दूसरा चाकू लाकर फिर से एंजेला पर टूट पड़ा.

तभी से यह मामला ब्रिटेन की एक अदालत में चल रहा था. जहां मृतका के माता-पिता इस मामले की पैरवी कर रहे थे. अब इस मामले की सुनवाई पूरी होने के बाद अदालत ने लॉरेंस ब्रांड को उसकी पत्नी की हत्या का दोषी पाया और उसे उम्रकैद की सजा सुनाई है. अदालत के फैसले के मुताबिक ब्रांड को कम से कम 16 साल 8 महीने जेल में बिताने होंगे.

इस केस की सुनवाई करने वाले जज हीथर नॉर्टन ने आरोपी ब्रांड को सजा सुनाने से पहले कहा कि तुमने घर के बाथरूम में अपनी पत्नी की हत्या की. उस पर 59 बार चाकू से वार किए. हत्या के वक्त जब चाकू टूट गया तो तुम किचन में जाकर दूसरा चाकू लाए और फिर वार करने लगे. ये एक बहुत ही जघन्य अपराध है.

फॉरेंसिक सबूतों के आधार पुलिस की जांच टीम ने अदालत को बताया कि चाकू के इतने वार के बाद भी एंजेला जिंदा थी और वो खुद को बचाने की कोशिश भी कर रही थी. लेकिन आरोपी की सिर पर सिर्फ जुनून था. वो एंजेला को किसी भी हाल में मारना चाहता था. कोर्ट के फैसले पर एजेंला के पिता भरत मित्तल और मां कमला ने संतोष जताया है.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top