Home > दुनिया की पहली स्मार्ट ट्रेन, चीन ने बिना पटरी सड़क पर दौड़ाई ट्रेन

दुनिया की पहली स्मार्ट ट्रेन, चीन ने बिना पटरी सड़क पर दौड़ाई ट्रेन

ट्रेन में तीन कोच तैयार किए गए हैं. इन्‍हें आपस में मेट्रो की तरह जोड़ा गया है. जिससे स्‍मार्ट ट्रेन के अंदर भी यात्री एक कोच से दूसरे कोच में जा सकते हैं. ये स्माेर्ट ट्रेन फ्यूचर का ट्रांसपोर्ट है.

 Ekta singh |  2017-10-25 10:02:08.0  |  नई दिल्ली

दुनिया की पहली स्मार्ट ट्रेन, चीन ने बिना पटरी सड़क पर दौड़ाई ट्रेन

चीन ने दुनिया की पहली स्मार्ट ट्रेन को तैयार किया है. यह व्‍हीकल वर्चुअल रेल लाइन पर दौड़गी. इन लाइन्‍स को चाइना की सड़कों पर बिछाया गया है. यह ट्रेन 70 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़गी और यह ट्रेन 300 लोग को ले जाने में सक्षम है.

सोमवार को पहली बार हेनान प्रांत के झूझोउ में ट्रैक-लेस ट्रेन की सफल टेस्टिंग की है. इस ट्रेन से चीन दुनिया के पहले इंटेलिजेंट रेल एक्सप्रेस सिस्टम को डेवलप करने का प्लान बना चुका है. इस रेल सिस्टम को चीन की सीआरआरसी कॉरपोरेशन ने बनाया है.

ट्रेन में तीन कोच तैयार किए गए हैं. इन्‍हें आपस में मेट्रो की तरह जोड़ा गया है. जिससे स्‍मार्ट ट्रेन के अंदर भी यात्री एक कोच से दूसरे कोच में जा सकते हैं. ये स्माेर्ट ट्रेन फ्यूचर का ट्रांसपोर्ट है.

इस ट्रेन सिस्टम को शहर के लिए तैयार किया गया है. इसे ऑटोनोमस रेल रैपिड ट्रांजिट कहते हैं. इसे चीन रेल कार्पोरेशन ने तैयार किया है. यह दुनिया की सबसे बड़ी ट्रेन कंपनी है.

इस ट्रेन की सबसे खास बात है इसके चलने का तरीका जो पुराने तरीको से हटकर है. इसे चलने के लिए किसी भी तरह का फिजिकल ट्रैक नहीं चाहिए. इस खास ट्रेन के लिए खास तौर पर रोड पर डॉट के रूप में अद्रश्य लाइनों को तैयार किया गया है .

एक किलोमीटर की कॉस्ट 17 से 23 मिलियन यूरो है. इस ट्रेन को चलाने के लिए रोड के अंदर सेंसर फिट किए जाते हैं. ये सेंसर ट्रैवल की जानकारी एकत्र करने में भी सक्षम होते हैं. उम्मीद है कि अगले साल यानी 2018 तक ट्रेन को पूरे चीन में दौड़ते देखा जा सकेगा.


Tags:    
Share it
Top