Top
Home > राज्य > झारखंड > रांची > बंगाल के बाद झारखंड में लगा लॉकडाउन, सीएम हेमंत सोरेन ने की घोषणा

बंगाल के बाद झारखंड में लगा लॉकडाउन, सीएम हेमंत सोरेन ने की घोषणा

 Shiv Kumar Mishra |  26 Jun 2020 5:18 PM GMT  |  रांची

बंगाल के बाद झारखंड में लगा लॉकडाउन, सीएम हेमंत सोरेन ने की घोषणा
x

रांची. झारखंड में 31 जुलाई तक लॉकडाउन बढ़ा दिया गया है. लॉकडाउन बढ़ाने की सूचना झारखंड सरकार की ओर से जारी कर दी गई है. दरअसल, झारखंड में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़े हैं. हालांकि यह संख्या अब भी कई राज्यों के मुकाबले बेहद कम है.

लेकिन मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की अगुवाई वाली राज्य सरकार ने अतिरिक्त एहतियात बरतते हुए लॉकडाउन 31 जुलाई तक बढ़ाने का फैसला किया है. मुख्य सचिव सुखदेव सिंह ने इस संबंध में एडवायजरी जारी करते हुए मौजूदा पाबंदियों को बरकरार रखे जाने का निर्देश निर्देश दिया है. साथ ही इस लॉकडाउन का पालन सख्ती से कराने के लिए प्रशासन को निर्देश दिया गया. सरकार ने अपने निर्देश में यह साफ किया है कि जिन गतिविधियों को पहले छूट दी गई थी, वह जारी रहेगी.

इन क्षेत्रों में अभी भी लगी है रोक

कोरोना संक्रमण को देखते हुए राज्य में अभी भी कई क्षेत्रों में रोक बरकरार रखी गई है. इसमें इंटरस्टेट बस सेवा, शॉपिंग मॉल, स्पा, सैलून, होटल, लॉज, धर्मशाला, धार्मिक स्थल, सिनेमा हॉल, जिम, स्विमिंग पूल, बार, स्कूल, कॉलेज, ट्रेनिंग और कोचिंग सेंटर आदि शामिल हैं.

इन क्षेत्रों में छूट रहेगी जारी

यह लॉकडाउन मौजूदा छूट के साथ लागू रहेगा. अनलॉक-1 में हेमंत सरकार ने कंटेनमेंट जोन को छोड़कर बाकी जगहों के लिए कई सेक्टरों में छूट दी है. इससे पहले गुरुवार को सरकार ने आदेश जारी कर ई-कॉमर्स, स्पोर्ट्स ग्राउंड में बगैर दर्शक के गतिविधि और ओपन स्पेस में मार्निंग वॉक पर लगी रोक हटा ली थी. इसके पूर्व ऑनलाइन शॉपिंग के तहत सिर्फ जरूरी सामान की खरीद किये जाने की अनुमति थी.

आपको बता दें कि झारखंड में पिछले 24 घंटे में कोविड-19 से एक व्यक्ति की मौत हुई है, जबकि 26 नए मामले सामने आए हैं. सरकार ने बताया कि राज्य में अभी तक कोरोना वायरस संक्रमण से 12 लोग की मौत हुई है, जबकि कुल 2219 लोग बुधवार तक इससे संक्रमित हुए हैं. स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी बुलेटिन के अनुसार, राज्य में कोविड-19 से 12वीं मौत हजारीबाग जिले में हुई है.

बुलेटिन के अनुसार, अब तक राज्य में संक्रमित हुए 2219 लोग में से 1841 लोग अन्य राज्यों से लौटे हैं. राज्य के 2219 संक्रमितों में से 1575 अब तक ठीक होकर अपने घरों को लौट चुके हैं. वहीं 632 लोगों का फिलहाल इलाज चल रहा है, जबकि 12 की मौत हो चुकी है.

झारखंड में कोरोना वायरस से 11वीं मौत बीते हफ्ते हुई थी. हजारीबाग मेडिकल कॉलेज अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में मरीज की बीते बुधवार को मौत हो गई थी. गुरुवार को उसकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. यह शख्स हाल में मुम्बई (Mumbai) से घर लौटा था. हजारीबाग जिले में ये कोरोना से पहली मौत है.

कोरोना संक्रमित 47 वर्षीय व्यक्ति ने दम तोड़ा था

जानकारी के मुताबिक, कोरोना संक्रमित 47 वर्षीय व्यक्ति ने दम तोड़ा था. मृतक हजारीबाग जिले का ही रहने वाला था और 14 जून को मुंबई से अपने दो बेटों के साथ लौटा था. मृतक मुंम्बई में टैक्सी ड्राइवर था. 15 जून को स्वास्थ्य जांच के बाद उसे एचएमसीएच के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया था. बुधवार को अचानक से उसे सांस लेने में तकलीफ हुई, जिसके बाद उसे ऑक्सीजन लगाया गया. लेकिन उसकी मौत हो गई.

प्रशासन की देखरेख में अंतिम संस्कार किया गया

मृतक का कोरोना टेस्ट अस्पताल में ही ट्रू नेट से किया गया था, जिसमें वह संक्रमित पाया गया. कन्फर्म करने के लिए उसके सैम्पल को टेस्ट के लिए रांची रिम्स भेजा गया, लेकिन रिपोर्ट आने से पहले ही बुधवार को उसकी मौत हो गई. गुरुवार को रिम्स से आई रिपोर्ट में भी वह कोरोना संक्रमित निकला. मृतक का दो पुत्र भी आइसोलेशन वार्ड में है. उनमें से एक में कोराना के लक्षण पाये गये हैं. उसका सैंपल टेस्ट के लिए रांची भेजा गया है. मृतक का सरकार के दिशा निर्देश के मुताबिक जिला प्रशासन की देखरेख में अंतिम संस्कार किया गया.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it