Top
Breaking News
Home > राज्य > कर्नाटक > बैंगलोर > कांग्रेस को झटके पर झटका, महाराष्ट्र से कर्नाटक तक फैला रायता!

कांग्रेस को झटके पर झटका, महाराष्ट्र से कर्नाटक तक फैला रायता!

 Special Coverage News |  4 Jun 2019 11:18 AM GMT  |  दिल्ली

कांग्रेस को झटके पर झटका, महाराष्ट्र से कर्नाटक तक फैला रायता!

हाल ही में संपन्न हुए लोकसभा चुनावों में करारी हार के बाद कर्नाटक कांग्रेस नई मुश्किल में फंसती दिख रही है. पार्टी के सीनियर नेता रामालिंगा रेड्डी ने पार्टी के शीर्ष नेतृत्व पर निशाना साधा है. उन्होंने सीनियर नेताओं के बीच तालमेल की कमी को लोकसभा चुनावों में कांग्रेस पार्टी की हार की वजह बताया है.

ट्विटर पर अपनी पार्टी के लिए लिखे गए खुले पत्र में रेड्डी ने निर्दलीय उम्मीदवारों को कैबिनेट में स्थान दिए जाने के खिलाफ भी आवाज उठाई है. कुछ रिपोर्ट्स में जा रहा है कि विधानसभा में बीजेपी को अपनी ताकत बढ़ाने से रोकने के लिए कांग्रेस और जेडीएस कैबिनेट विस्तार पर विचार कर रही हैं, जिसमें आर शंकर और एच नागेश को कैबिनेट में शामिल किया जा सकता है.

रेड्डी ने मंत्री पद के पसंदीदा उम्मीदवारों में अपना नाम शामिल न होने पर अपनी नाराजगी जाहिर की. उन्होंने कहा, "मैं सात बार का विधायक हूं, लेकिन वे मेरी उपेक्षा कर रहे हैं. एचके पाटिल, रोशन बेग और अन्य वरिष्ठ नेताओं का भी यही हाल है." रेड्डी ने आगे कहा कि वह नए सदस्यों के कैबिनेट में शामिल होने के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन सीनियर्स की उपेक्षा कर न्यूकमर को आगे बढ़ाना अनुचित है.

चीजों को सही करने का आग्रह करते हुए रेड्डी ने कहा पार्टी को इस तथ्य पर बात करनी चाहिए कि सीनियर्स की उपेक्षा हो रही है. उन्होंने यह भी सुझाव दिया कि जो मंत्री लोकसभा चुनाव में परिणाम देने में विफल रहे, उन्हें पार्टी संगठन में दिए गए पदों से हटा देना चाहिए.

गौरतलब है लोकसभा चुनाव में कर्नाटक में बीजेपी की जीत के बाद से ही राज्य की सरकार पर खतरा बताया जा रहा है. विधानसभा की दो सीटों पर हुए उप-चुनाव में भी एक सीट पर बीजेपी ने जीत दर्जी की थी, जिसके बाद कर्नाटक विधानसभा में बीजेपी के 105 विधायक हो गए हैं जो साधारण बहुमत से मात्र आठ कम हैं.

सब मंत्री अपना मंत्रालय संभाल लिये लेकिन कांग्रेस के अंदर इस्तीफा देने का सिलशिला थम नही रहा है. पार्टी के अधिकतर नेता अपना इस्तीफा देने के साथ हि हार की जिम्मेदारी अपने उपर ले ले रहे है. महाराष्ट्र में 48 लोकसभा सीटों में भाजपा और शिवसेना ने मिलकर 41 सीटों पर जीत हासिल किये. आपको बतादें कि महाराष्ट्र कांग्रेस के नेता राधाकृष्ण विखे पाटिल ने विधायक के रूप में इस्तीफा दे दिया. ये इस्तीफा विधानसभा अध्यक्ष को सौंपा. सूत्रों के हवाले से खबर मिल रही कि राधाकृष्ण विखे पाटिल भाजपा में शामिल हो सकते है और इनके साथ और भी कई नेता भाजपा में शामिल होने कि संभावना है.

https://specialcoveragenews.in/congress-bigger-blow-to-congress,-resigns-from-mla

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story

नवीनतम

Share it