Home > राज्य > कर्नाटक > बैंगलोर > कर्नाटक के पूर्व उपमुख्यमंत्री परमेश्वर के पीए ने फांसी लगाई, सुसाइड नोट में बताई ये बड़ी बजह

कर्नाटक के पूर्व उपमुख्यमंत्री परमेश्वर के पीए ने फांसी लगाई, सुसाइड नोट में बताई ये बड़ी बजह

पुलिस के मुताबिक, रमेश का शव शनिवार को बेंगलुरु यूनिवर्सिटी कैंपस में पेड़ से लटका मिला

 Special Coverage News |  13 Oct 2019 11:33 AM GMT  |  दिल्ली

कर्नाटक के पूर्व उपमुख्यमंत्री परमेश्वर के पीए ने फांसी लगाई, सुसाइड नोट में बताई ये बड़ी बजह

बेंगलुरु : कर्नाटक के पूर्व उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वर के ठिकानों पर आयकर विभाग और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की छापेमारी के बाद उनके निजी सहायक (पीए) ने खुदकुशी कर ली। शनिवार को रमेश का शव बेंगलुरु यूनिवर्सिटी के पेड़ पर फंदे से लटका मिला। पुलिस को मौके से एक नोट मिला है, जिसमें रमेश ने छापेमारी से परेशान होने और सम्मान की रक्षा के लिए जान देने की बात कही है। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने रविवार को आयकर विभाग पर प्रताड़ना का आरोप लगाते हुए प्रदर्शन किया।

पुलिस के मुताबिक, रमेश आठ साल से परमेश्वर के निजी सहायक थे। उन्होंने नोट में आयकर अधिकारियों से अपने परिजन को परेशान नहीं करने का अपील की है। वहीं, आयकर अधिकारियों ने छापेमारी के सिलसिले में परमेश्‍वर को मंगलवार को पूछताछ के लिए बुलाया है।

छापे के दौरान देर रात तक परमेश्वर के घर मौजूद थे रमेश

आयकर विभाग ने बताया कि कांग्रेस नेता परमेश्वर की घर की तलाशी के दौरान शनिवार आधी रात तक रमेश वहां मौजूद थे। हालांकि, उनके घर की तलाशी नहीं ली गई और न ही बयान दर्ज किया गया था। वहीं, परमेश्वर ने कहा है कि मैंने शनिवार सुबह रमेश को फोन कर साहस और निडरता से हालात का सामना करने के लिए कहा था। पता नहीं उसने यह कदम क्यों उठा लिया।

'केवल कांग्रेस नेताओं के खिलाफ ही छापेमारी क्यों'

बेंगलुरु कांग्रेस ने रमेश की आत्महत्या को पार्टी से उनके पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को दूर रखने के उत्पीड़न का नतीजा बताया है। प्रदेशाध्यक्ष दिनेश गुंडू राव ने कहा कि मैं जानना चाहता हूं कि जांच एजेंसियां सिर्फ कांग्रेस के नेताओं के खिलाफ ही छापेमारी क्यों कर रही हैं।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story

नवीनतम

Share it
Top